2022 तक ऑटोमोबाइल क्षेत्र में होंगी 1.5 करोड़ नौकरियां

Sep 14 2015 05:17 PM
2022 तक ऑटोमोबाइल क्षेत्र में होंगी 1.5 करोड़ नौकरियां

भारत विश्व की बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनीयो मे से एक हैं.दिन पर दिन बढ़ते जा रहे ऑटो प्रॉडक्ट्स के उत्पादन और आयात से देश बड़े आंकड़ो को ग्लोबल इंडस्ट्री में शामिल हो चूका हैं.जिसकी वजह से रोज़गार के नए अवसर भी आये हैं. ऑटोमोटिव मिशन प्लान (एएमपी) II के अनुसार 2026 तक ऑटोमोटिव सेक्टर में तक़रीबन 65 मिलियन यानी 6.5 करोड़ नौकरियों की वैकेंसी जारी की जाएगी.

एनएसडीसी की मिली रिपोर्ट के अनुसार देश में 2022 तक कुल 1.5 करोड़ लोगों को ऑटोमोबाइल सेकटर में रोजगार मिलेगा जिसके लिए ऑटोमोबाइल/मेकैनिकल इंजीनियर्स से लेकर एमबीए, फाइनेंस, अकाउंट्स, सेल्स, आईटी सभी फील्ड के उम्मीदवार अपना भविष्य बना सकते हैं. इन क्षेत्र में इतने रोज़गार के अवसरों का कारन इसलिए भी हैं क्योकि भारत 2015 तक चौथा सबसे बड़ा ऑटोमोटिव मार्केट बन जायेगा.सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स (एसआईएएम) ने भारतीय ऑटोमोटिव इंडस्ट्री से 10 साल में चार गुना ग्रोथ की उम्मीद जताई हैं.