Share:
मानसून के आते ही पैरों में हो सकता है संक्रमण, ऐसे करे इलाज
मानसून के आते ही पैरों में हो सकता है संक्रमण, ऐसे करे इलाज

मानसून में पसीने और नमी की वजह से कई बार जूतों से बदबू आने लगती है जिससे पैरों में कई तरह के इफेक्शन होने का खतरा रहता है. इफेक्शन के लक्षण है कि पैरों के नाखूनों के बीच बदबू आना. छाले पड़ जाना जिसमें खुजली होती है. पैर के नाखूनों के बीच की त्वचा का हटना या छिलना.

कई बार छालों की वजह से बेहद जलन होती है। कई लोगों के नाखूनों का रंग भी बदल जाता है. इससे बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय किए जा सकते हैं. नीम के तेल की कुछ बूंदों के इंफेक्शन वाले हिस्से पर लगाने से आराम होगा. 

इसके अलावा नीम की पत्तियों के पीसकर लगाने से भी आराम होगा. नीम की पत्तियों के साथ नींबू के रस और हल्दी को मिलाएं और पेस्ट बनाकर लगाएं तो फायदा होगा. इससे बचने के लिए ऐसे मौसम में कम से कम बंद और कसे जूते पहने जिससे पसीना ना आए.

पानी में सिरके को मिलाए और 30 मिनट के लिए पैरों को डुबों को रखें. इसके बाद पैरों को सुखाकर पोछ लें. इस प्रक्रिया को दो हफ्ते तक दोहराएं. नींबू के रस में ऑलिव ऑयल मिलाएं और इसे लगाएं. नींबू इफेक्शन को कम करेगा वहीं ऑलिव ऑयल त्वचा को मुलायम बनाएगा.

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -