Share:
आज से शुरू हुआ श्रीकृष्ण का प्रिय मार्गशीर्ष माह, जानिए क्यों है ये खास?
आज से शुरू हुआ श्रीकृष्ण का प्रिय मार्गशीर्ष माह, जानिए क्यों है ये खास?

हिन्दू पंचांग का नौवां महीना मार्गशीर्ष है. मार्गशीर्ष माह को बेहद अहम माना गया है. इसे अगहन का महीना भी बोलते हैं. मार्गशीर्ष का महीना कृष्ण भक्तों के लिए विशेष है. कहते हैं इस महीने में जप, तप एवं ध्यान से हर बिगड़े काम बन जाते हैं. इस माह में कान्हा के मंत्रों का जाप करने मात्र से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इस बार मार्गशीर्ष का महीना 28 नवंबर से आरम्भ 26 दिसंबर तक रहेगा. मार्ग शीर्ष माह को हिन्दू शास्त्रों में सर्वाधिक पवित्र महीना माना जाता है. भगवान गीता में बोलते हैं कि - महीनों में, मैं मार्गशीर्ष हूं. इसी महीने से सतयुग का आरम्भ माना जाता है. कश्यप ऋषि ने भी इसी महीने में कश्मीर की रचना की थी. यह महीना जप, तप और ध्यान के लिए सर्वोत्तम माना गया है. इस महीने पवित्र नदियों में स्नान करना खास लाभदायी होता है.

क्यों खास है मार्गशीर्ष?
सतयुग में देवों ने मार्गशीर्ष की प्रथम तिथि को ही वर्ष प्रारंभ किया. मार्गशीर्ष मास में विष्णुसहस्त्र नाम, भगवत गीता एवं गजेन्द्रमोक्ष का पाठ अवश्य करें. इस माह में शंख में पवित्र नदी का जल भरें एवं फिर इसे पूजा स्थान पर रखें. शंख को भगवान के ऊपर से मंत्र जाप करते हुए घुमाएं. फिर शंख में भरा जल घर की दीवारों पर छीड़कें. इससे घर में शुद्धि बढ़ती है. शांति का वास होता है. मार्गशीर्ष की पूर्णिमा को चन्द्रमा की पूजा अवश्य करनी चाहिए. मार्गशीर्ष की पूर्णिमा को ही 'दत्तात्रेय जयन्ती' मनाई जाती है.

मार्गशीर्ष माह के लाभ
मार्गशीर्ष में मंगल कार्य विशेष लाभदायी होते हैं. इस महीने में श्रीकृष्ण की उपासना एवं पवित्र नदियों में स्नान विशेष शुभ होता है. इस महीने में संतान से संबंधित वरदान बहुत सरलता से प्राप्त होता है. चन्द्रमा से अमृत तत्व की प्राप्ति भी होती है तथा कीर्तन करने का फल अमोघ होता है.

मार्गशीर्ष में कैसे चमकाएं किस्मत?
इस महीने में नित्य गीता का पाठ करें. प्रभु श्री कृष्ण की अधिक से अधिक उपासना करें. कान्हा को तुलसी के पत्तों का भोग लगाएं तथा उसे प्रसाद की भांति ग्रहण करें. पूरे महीने "ॐ नमो भगवते वासुदेवाय" मंत्र का जाप करें. यदि इस महीने किसी पवित्र नदी में स्नान का अवसर मिले तो अवश्य करें. 

इन राशि के लोगों के लिए बेहद शुभ रहेगा नया साल 2024, शुरू होगा अच्छा समय

16 दिसंबर से पहले निपटा लें सभी शुभ कार्य, वरना 1 महीना करना होगा इंतजार

आज बैकुंठ चतुर्दशी पर करें ये एक काम, पूरी होगी हर मनोकामना

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -