जानिए हाथ की लकीरों से Y बनाने का महत्व

भाग्य जानने के लिए हस्तरेखा ज्योतिष भी ज्योतिषशास्त्र का एक अहम् अंग है. हमारी हथेली में बहुत सी रेखाएं और पर्वत होते है सहजयाद आप इनका अर्थ भी नहीं जानते होंगे. आइये आज हम आपको बताते है कि आपके हाथ की लकीरों से मिलकर बनने वाला "Y" का पवित्र महत्त्व क्या होता है और वह आपके भाग्य में क्या उपयोगिता रखता है.

दरअसल व्यक्ति के हाथ में जो वायनुमा रेखा होती है, वो जीवन रेखा को दर्शाती है.यह रेखा व्यक्ति के उम्र के अलावा भी बहुत कुछ बयान करती है. बता दें की हस्‍तरेखा शास्‍त्र के अनुसार इस चिन्ह का होना शुभ और अशुभ दोनों संकेत देता हैं. हथेली में दो प्रकार की रेखाएं होती है, एक शुभ संकेत देने वाली और दूसरी अशुभ संकेत देने वाली.

यदि किसी व्यक्ति के हाथ में जीवन रेखा चंद्र पर्वत पर जाकर रुक जाती है तो ऐसी स्थिति में बना वाई का निशान शुभ फलदायक माना जाता है. ऐसे जातक आमतौर पर अपना व्यवसाय करते हैं जिसकी शाखा विदेशों में भी हो सकती हैं साथ ही ऐसे लोग आर्थिक रूप से संपन्न होते हैं और खुशहाल जीवन जीते हैं.

यदि जातक के हथेली की रेखा जीवनरेखा से निकलकर साधारण वाई का निशान बना रही है, तो यह अशुभ माना जाता है. क्योंकि जिस उम्र में यह रेखा जीवन रेखा को काटती है उस उम्र में व्यक्ति की जीवनशक्ति कमजोर होने लगती है.उस जातक के जीवन में इतनी अधिक परेशानियां आती है कि उसका जीवन से मोह हटने लगता है या मानसिक और शारीरिक रूप से भी वह अक्षम होने लगता है.

शास्त्रानुसार इस ग्रह के कारण होता है शादी में विलम्ब

इस मंत्र से प्राप्त होता है मनचाहा प्यार

ज्येष्ठ अमावस्या 2018 ज्येष्ठ अमावस्या का महत्व, व्रत व पूजा विधि

ज्येष्ठ अमावस्या 2018 जानिए क्यों खास है ज्येष्ठ माह की अमावस्या

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -