सुरक्षित Password बनाते समय रखे इन बातो का ध्यान

सुरक्षित Password बनाते समय रखे इन बातो का ध्यान
style="color: rgb(0, 0, 0); font-family: Arial, Tahoma, Verdana; font-size: 14px; line-height: 20px; text-align: justify;">किसी भी जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए आप लंबा पासवर्ड डालकर यदि सोचते हैं कि वो सुरक्षित है तो ऎसा नहीं है, क्योंकि सिंपल शब्दों में लिखे लंबे पासवर्ड को भी आसानी से हैक किया जा सकता है। साइबर सिक्योरिटी एजेंसियां हर साल सबसे ज्यादा हैक होने वाले कॉमन और कमजोर पासवर्ड्स की लिस्ट जारी करती है। इनमें कई लंबे-लंबे पासवर्ड होते हैं, लेकिन वो भी हैक हो जाते हैं। जी हां, कई लोग अपना कंप्यूटर, ईमेल या वेबसाइट्स का लॉग-इन पासवर्ड लंबा तो डाल देते हैं, लेकिन उसमें बिल्कुल सिंपल शब्दों का इस्तेमाल कर देते हैं।
 
यही उनके हैक होने का कारण बन जाता है क्योंकि लंबा होने के बावजूद हैकर्स सिंपल शब्दों को बड़ी आसानी से ब्रेक कर लेते हैं। इससे बचने के लिए पासवर्ड में स्पेशल केरेक्टर्स का इस्तेमाल करना होता है जो पासवर्ड को मजबूत बनाते हैं। अपने कंप्यूटर, ईमेल या वेबसाइट्स का लॉग-इन पासवर्ड बनाते समय उसमें केपिटल और शॉर्ट लेटर्स समेत अंकों और स्पेशल केरेक्टर्स (@, $, *, +, !) का इस्तेमाल उसे मजबूत बना देता है। कई ऑनलाइन पोर्ट्ल्स द्वारा पासवर्ड की मजबूती भी दिखाई जाती है जैसे वीक, स्टॉंग और वेरी स्ट्रॉन्ग।
 
वेरी स्ट्रॉन्ग पासवर्ड ही सबसे अच्छा माना जाता है और इसे बनाने के लिए छोटे बड़े शब्दों और अंकों समेत स्पेशल केरेक्टर्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। हालांकि ऎसा पासवर्ड याद रखने में कठिनाई होती है, लेकिन प्रेक्टिस में आने पर आसानी से याद हो जाता है। किसी भी कंप्यूटर, ईमेल या वेबसाइट लॉग-इन पासवर्ड में कम से कम 6 शब्दों का इस्तेमाल करना अनिवार्य होता है, लेकिन आप अपने पासवर्ड में स्पेशल केरेक्टर्स, अंकों और शब्दों का इस्तेमाल करते हुए 8 से 10 शब्दों का बना सकते हैं। जैसे- (AT@1PwDiN+) इस पासवर्ड में केपिटल, शॉर्ट लेटर्स समेत अंकों और स्पेशल केरेक्टर्स का इस्तेमाल हुआ है जो इसकी मजबूती की पहचान है।