Share:
राजनीति की युवा आंधी - कन्हैया कुमार
राजनीति की युवा आंधी - कन्हैया कुमार

नईदिल्ली। वर्ष 2001 में संसद पर हमले के दोषी करार दिए गए आतंकी मोहम्मद अफजल गुरू को फांसी की सजा दिए जाने के विरूद्ध दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में अफजलगुरू की बरसी पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। वर्ष 2016 में हुए इस आयोजन में कुछ लोगों ने राष्ट्रविरोधी नारे लगाए और उनमें कथित तौर पर कन्हैया कुमार का नाम लिया गया। कन्हैया कुमार उस समय जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष थे। उन्हें देशद्रोह के आरोप में पकड़ लिया गया। 2 मार्च 2016 में अंतरिम जमानत पर उन्हें रिहा कर दिया गया। राष्ट्रविरोधी नारे लगाने के मामले में उन्हें लेकर स्पष्टतौर पर कुछ नहीं कहा गया और उनके खिलाफ सबूत पेश नहीं किए जा सके।

हालांकि यह मामला विश्वविद्यालय प्रशासन में भी चला और कन्हैया कुमार को उनके सहयोगी 7 छात्र नेताओं को अकादमिक तौर पर वंचित कर दिया गया। हालांकि बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। मगर वे देश के राजनीतिक परिदृश्य पर चमक उठे। वे भोपाल में जन उत्सव में भागीदारी करने पहुंचे और उन्होंने कहा कि देशवासियों को वास्तविक मसलों से भटकाया जा रहा है। देश और प्रदेश के जनसंगठनों द्वारा आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम में भागीदारी करने पहुंचे कन्हैया कुमार ने युवाओं से संवाद किया।

उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी की निंदा की। कई मसलों पर उन्होंने चर्चा की। इसके इतर उत्तरप्रदेश के बदायूं में भारतीय जनता युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष कुलदीप वार्ष्णेय ने कन्हैया कुमार की जीभ काटने वाले को 5 लाख का इनाम देने की घोषणा की थी। ऐसे में उन्हें अपना पद गंवाना पड़ गया।

उनके खिलाफ भाजपा नेताओं ने कार्रवाई की। कन्हैया कुमार को वाम दलों और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का साथ मिला। इसके बाद वर्ष 2017 में कन्हैया मीडिया में छाए रहे। उन्हें राजनीतिक मंच मिला और वे भाजपा के विरोधी बन गए। उनके लिए एक अच्छा राजनीतिक प्लेटफाॅर्म तैयार हो गया।

चुनाव परिणामो की सबसे दिलचस्प् खबरे

साणंद है देश के सबसे विकसित गांवों में शामिल

बीजेपी के लिए इस जीत के मायने

मनमोहन की देशभक्ति पर उठे सवाल पर, PM मोदी से माफी की मांग

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -