लेखक इलैया की सरदार पटेल पर टिप्पणी से मचा बवाल
लेखक इलैया की सरदार पटेल पर टिप्पणी से मचा बवाल
Share:

नईदिल्ली। दलित सामाजिक कार्यकर्ता और लेखक कांचा इलैया द्वारा की जाने वाली टिप्पणी से विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल इलैया की यह टिप्पणी पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल को लेकर की गई थी। दरअसल उन्होंने टिप्पणी करते हुए कहा कि पंडित नेहरू के स्थान पर भारत के प्रधानमंत्री सरदार पटेल बनते तो भारत के हालात पाकिस्तान जैसे हो जाते। देश समाप्त हो जाता। कांचा इलैया की इस टिप्पणी के बाद राजनीतिक हलकों में विरोध पैदा हो गया।

आंध्रप्रदेश निवासी कांचा इलैया को एक अच्छा लेखक माना जाता है वे बेहद लोकप्रिय हैं। उनके द्वारा व्हाय आय एम नाॅट ए हिंदू, पोस्ट - हिंदू इंडिया, ए डिस्क्लोज़र इन दलित बहुजन, सोशियो - स्पिरिच्युअल एंड साइंटिफिक रिवाॅल्युशन आदि पुस्तकों को कई लोगों द्वारा पढ़ा गया। दरअसल इलैया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि वे अघोषित ओबीसी प्रधानमंत्री हैं।

मगर सबसे बड़ा प्रश्न उन्होंने कहा कि वे दलितों के लिए क्या कर रहे हैं। इलैया द्वारा यह भी कहा गया कि पशुओं के बीच असमानता क्यों हो रही है। आखिर दूध उत्पादन में भेंस के दूध का उत्पादन ही सर्वाधिक है। भैंसों का दूध 75 प्रतिशत होता है। मगर गाय की रक्षा की बात ही हो रही है। मगर भैंसों के संरक्षण पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। आखिर महाराष्ट्र और गुजरात में बड़ी संख्या में भैंसें काटी जाती हैं। 

भैंसों को मारा जाता है। इलैया द्वारा कहा गया कि पटेल प्रधानमंत्री बनते तो फिर भारत भी पाकिस्तान के ही रास्ते चला जाता भारत का लोकतंत्र समाप्त हो जाता। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल नहीं चाहते थे कि भारत रत्न बाबा साहेब आंबेडकर संविधान की रचना करें। गांधीजी ने बकरियों के संरक्षण की बात नहीं की।

मगर गाय की पूजा के पक्षधर रहे। वे संविधान में गौ संरक्षण की बात शामिल करवाना चाहते थे वे स्वयं बकरी का दूध पीते थे लेकिन उसके संरक्षण पर उन्होंने ध्यान दिया। प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू को बेवजह बदनाम करने का कार्य किया गया। मगर नेहरू के योगदान की किसी से तुलना करना ठीक नहीं है। 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -