आइटम सांग करने से बेटे को फर्क नहीं पड़ता : मलाईका

Apr 20 2015 02:12 PM
आइटम सांग करने से बेटे को फर्क नहीं पड़ता : मलाईका
style="text-align: justify;">अभिनेत्री मलाइका अरोड़ा खान का कहना है कि उन्हें डांस करने में मजा आता है. उनके इस काम से उनके बेटे को कोई फर्क नहीं पड़ता है. यह पूछे जाने पर कि आपके आइटम सान्ग पर बेटे अरहान की क्या प्रतिक्रिया होती है? मलाइका ने बताया, उसे मेरे आइटम सान्ग से फर्क नहीं पड़ता. वह अभी बहुत छोटा एवं मासूम है. अगर उसे गाना पसंद आता है, तो वह बताता है कि यह उसे अच्छा लगा. मलाइका (39) ने कहा, मेरी नजर में गाने फिल्म का हिस्सा होते हैं. एक गाने का हिस्सा होना मजेदार होता है, लेकिन यह इस पर भी निर्भर करता है कि इसे कैसे फिल्माया व प्रकाशित किया गया है. मुझे आइटम सान्ग पसंद है.
 
मुझे जब भी इनका हिस्सा बनने का अवसर मिलता है, मैं हमेशा हां कहती हूं क्योंकि मुझे इन्हें करने में मजा आता है. हिंदी सिनेजगत में भले आइटम सान्ग को गलत निगाह से देखा जाता हो, लेकिन मलाइका कहती हैं कि वह आइटम सान्ग को विशेष गाने की उपाधि देना चाहेंगी. उन्होंने कहा, "मैं कभी उस तरह नहीं देखती. बदकिस्मती से लोगों ने आइटम सान्ग को अपमानजनक चीज बना दिया है..मैं इसे विशेष गाने का नाम देना चाहूंगी. मुझे 'आइटम सान्ग' शब्द से नफरत है.