Share:
मुगलों और अंग्रेज़ों के लूटने के बाद भी भारत में इतना सोना मौजूद, जितना अमेरिका-चीन जैसे 8 देशों के बैंक के पास भी नहीं
मुगलों और अंग्रेज़ों के लूटने के बाद भी भारत में इतना सोना मौजूद, जितना अमेरिका-चीन जैसे 8 देशों के बैंक के पास भी नहीं

नई दिल्ली: एक जमाना था, जब भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था. ऐसा कहने के पीछे कई कारण भी थे. माना जाता है कि 1739 में पर्शिया (अब ईरान) के शासक नादिर शाह ने दिल्ली पर हमला बोला और यहां से इतना सोना लूटा कि तीन वर्षों तक वहां किसी को टैक्स देने की आवश्यकता नहीं पड़ी. यही नहीं, मुगल शासक शाहजहां ने भी अपने लिए एक सिंहासन तैयार करवाया था. बताया जाता है कि ये पूरा सिंहासन शुद्ध सोने से बना था. इसे 'तख्त-ए-ताऊस' कहा जाता था. इसी सिंहासन के साथ ब्रिटेन भी भारत से काफी अधिक सोना लूटकर ले गए थे. 

बहरहाल, आज अक्षय तृतीया है और इस दिन सोना-चांदी खरीदना बेहद शुभ माना जाता है. बता दें कि भारत में सोने का उत्पादन काफी कम होता है, मगर चीन के बाद सोने की सबसे अधिक मांग यहीं है. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के अनुसार, 2021 में भारत में सोने की डिमांड 797.3 टन थी. जबकि, 2020 में 446.4 टन थी. यानी, 2021 में भारत में रोज़ाना हजार करोड़ रुपये के सोने की मांग थी. एक अनुमान के अनुसार, भारतीय महिलाओं के पास 22,500 टन सोना है. इसका मूल्य 1.4 ट्रिलियन डॉलर यानी 107 लाख करोड़ रुपये के आसपास होता है. ये कीमत भारत की GDP का 45 फीसद है. 2021-22 में भारत की GDP 232.15 लाख करोड़ रुपये थी. 

एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्तमान समय में भारतीय महिलाओं के पास जितना सोना है, उतना सोना तो अमेरिका, जर्मनी और चीन सहित 8 देशों के केंद्रीय बैंक के पास भी नहीं है. अमेरिका के केंद्रीय बैंक के पास सर्वाधिक गोल्ड रिजर्व है. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल के अनुसार, अमेरिका के केंद्रीय बैंक के पास 8,133.47 टन गोल्ड रिजर्व है. दूसरा स्थान जर्मनी का है, जिसके पास 3,358.50 टन सोना है. रूस के पास 2,301.64 टन और चीन के पास 1,948.31 टन सोना है. वहीं, भारत में RBI के पास 760.40 टन गोल्ड रिज़र्व है. वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल का डेटा बताता है कि भारत में सोने की डिमांड वापस बढ़ने लगी है. बीते कुछ वर्षों से भारत में सोने की डिमांड में लगातार गिरावट आ रही थी. 

कोरोना काल में 2020 में सोने की डिमांड सबसे कम रही थी. उस साल 446 टन सोना खरीदा गया था. हालांकि, 2021 में फिर इसमें तेजी देखने को मिली और इस साल 797 टन से अधिक सोना खरीदा गया. भारत में सोने का उत्पादन काफी कम होता है. 2020 में भारत में केवल 1.6 टन सोने का उत्पादन हुआ था. अपनी जरूरत का अधिकतर सोना भारत इम्पोर्ट करता है. 2020-21 में भारत ने 651.24 टन सोना आयात किया था.  

कोई भी भारतीय पत्नी अपने पति को साझा करना बर्दाश्त नहीं कर सकती - इलाहबाद हाई कोर्ट

भाजपा के वरिष्ठ नेता विजय सांपला ने राष्ट्रीय पैनल के प्रमुख का नाम दिया

ईद के दिन भी नहीं मानें कट्टरपंथी, नमाज़ के बाद सुरक्षाबलों पर किया पथराव

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -