Share:
भारत को उपदेश देने से पहले POK में मानवाधिकार उल्लंघन पर जवाब दे पाकिस्तान
भारत को उपदेश देने से पहले POK में मानवाधिकार उल्लंघन पर जवाब दे पाकिस्तान

संयुक्त राष्ट्र : भारत ने पाकिस्तान द्वारा कश्मीर मसले को संयुक्त राष्ट्र में लाए जाने पर अपने जवाब में कहा कि पाकिस्तान पाक अधिकृत कश्मीर वाले क्षेत्र में मानव अधिकारों का उल्लंघन रोके। उसे पीडि़तों को आत्मनिर्णय का अधिकार देना चाहिए। इसके बाद वह दूसरे देशों को उपदेश दे। दरअसल यहां पर एक यात्रा कार्यक्रम के तहत पहुंचे, सांसद रतन लाल कटारिया ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा की तीसरी समिति में संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने भारत विरोधी विचार प्रस्तुत किए थे।

इस दौरान लोधी ने जम्मू-कश्मीर पर भी टिप्पणी की थी। उनके वक्तव्य को लेकर कटारिया ने कहा कि आखिर यह एक विडंबना है जिसे समझना जटिल है। लोधी ऐसे देश की प्रतिनिधि हैं जिसने भारत के जम्मू - कश्मीर क्षेत्र के एक भाग पर असंगत कब्जा कर रखा है। इस कब्जे वाले क्षेत्र को मानवाधिकार द्वारा वंचित कर दिया गया है।

उनके द्वारा इस समिति के सामने बयानबाजी की गई। जिसमें यह कहा गया कि दूसरों को उपदेश देने से पहले पाकिस्तान को अपने कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन रोकना होगा। 

इसके लिए उसे पीडि़तों को भी अपना निर्णय करने दिया जाना चाहिए। आखिर पाकिस्तान भारत पर जम्मू-कश्मीर को लेकर जिस तरह की बातें कर रहा है उसमें कितनी सच्चाई है इस बात का पता तो पीओके के लोगों के साथ होने वाले बर्ताव और वहां होने वाले मानवाधिकार उल्लंघन की बातों से ही लग जाता है। 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -