सायबर घुसपैठ को रोकने की जुगत लगाऐंगे भारत-अमेरिका

वाशिंगटन : लगातार सायबर क्षेत्र में हो रही घुसपैठ से परेशान अमेरिका और भारत ने सायबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में संबंध मजबूत करने का निर्णय लिया। जिसमें दोनों ही देशों ने इंटरनेट की चुनौतियों के साथ सायबर अपराध से निपटने में सहयोग करने का निर्णय लिया। जिसमें उन्होंने कहा कि इंटरनेट पर दोनों देशों की पकड़ मजबूत हो सकती है। यही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीे के डिजिटल इंडिया कैंपेन को बढ़ाया जा सकता है। मामले में कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका की यात्रा पर जाऐंगे।

इस दौरान वे अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से भेंट करेंगे। इसके पहले दोनों ही देशों के अधिकारियों द्वारा दिल्ली में मुलाकात की जाएगी। दिल्ली में होने वाली भेंट में दोनों ही देश सायबर मसले से निपटने पर विचार करेंगे वहीं सायबर सिक्योरिटी के साथ डिजिटल इकोनाॅमी को बढ़ावा दिया जाएगा। 4 थी भारत - अमेरिका सायबर डायलाॅग में अमेरिकी राष्ट्रपति के विशेष सहायक और सायबर सिक्योरिटी के साथ डिजीटल अर्थव्यवस्था को बढ़ाने की बात की जा सकती है।

कहा जा रहा है कि इस चर्चा में अमेरिकी राष्ट्रपति के विशेष सहायक और सायबर सिक्योरिटी को - आॅर्डिनेटर माईकल डेनियल के साथ भारत के डिप्टी नेशनल सिक्योरिटी एडवाईज़र अरविंदगुप्ता ने भाग लिया। इस तरह के दोनों पक्षों में डेलिगेशन स्तर की चर्चा की गई। माइकल डेनियल द्वारा कहा गया कि साइबर सुरक्षा प्रमुखतौर पर मिलकर रहने का प्रयास है।

डेनियाल ने कहा कि यह बेहद जरूरी है लेकिन भारत औरअमेरिका जैसे भागीदारों को आपसी सहयोग के साथ कार्य करना होगा। उन्होंने उद्योग के साथ सामाजिक संगठनों को जोड़ने की बात भी की। यह बात भी सामने आई है कि अमेरिका के साथ चर्चा में भारत अपने महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट मेक इन इंडिया को भी मजबूती से सामने रखेगा। 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -