प्रवासी मुद्दे को लेकर हंगरी और क्रोएशिया आए आमने-सामने

प्रवासी मुद्दे को लेकर हंगरी और क्रोएशिया आए आमने-सामने

क्रोएशिया : हिंसाग्रस्त सीरिया और अन्य देशों से आने वाले प्रवासियों को लेकर यूरोप के कई देशों में तनाव की स्थिति बनी हुई है. क्रोएशिया के प्रधानमंत्री ज़ोरान मिलानोविक के इस बयान जिसमें उन्होने कहा है कि 'क्रोएशिया प्रवासियों को स्वीकार करने के लिए हंगरी को 'बाध्य' करेगा. इसके बाद तनाव और बढ गया है. हंगरी का आरोप है कि क्रोएशिया ने प्रवासियों को रजिस्टर नहीं करके अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया है. क्रोएशिया ने प्रवासियों को हंगरी भेजना शुरू किया. 

क्रोएशिया का कहना है कि बीते बुधवार से अब तक उसने करीब 20 हज़ार से अधिक प्रवासी हंगरी की सीमा में दाखिल हो चुके हैं. वहीं, हंगरी के अधिकारियों का कहना है कि लगभग 8000 प्रवासी शुक्रवार को हंगरी पहुंचे थे.

यूरोपीय संघ में प्रवासी संकट से निपटने के तौर-तरीकों पर पहले से ही मतभेद थे और अब क्रोएशिया के रवैये से स्थिति और गंभीर हो गई है. हंगरी में प्रवासियों पर पुलिस कई बार आंसू गैस के गोले दाग़ चुकी है. अधिकतर प्रवासी जर्मनी और स्कैंडेनेवियाई में जाना चाहते हैं.