Share:
जाने क्या है सूर्य देवता को जल चढाने का सही तरीका
जाने क्या है सूर्य देवता को जल चढाने का सही तरीका

जब आप सूर्य को जल अर्पित करते है साथ ही नौ ग्रहो की कृपा भी बनी रहती है, लेकिन हमारी ठीक ढंग से जल अर्पित न कर पाने से उसका पल उतना नहीं मिल पाता है.

जानिए सूर्य को किस तरह से जल अर्पित करना चाहिए.

सबसे पहले ब्रह्म मुहूर्त में उठकर सभी कामों से निवृत्त होकर स्नान करें और एक लोटे में जल भरकर सूर्य को अर्पित करें. माना जाता है कि ब्रह्म मुहूर्त में में जल चढाने से फल अधिक मिलता है. यानी कि जब सूर्य लाल रंग का होता है और आपको ठीक ढंग से दिखाई देता है.

1-हमेशा जल को सिर के ऊपर से करें. जिससे कि सूर्य की सातों किरणे आपको शरीर में पड़ें जिससे कि सूर्य के साथ-साथ आपके नौ ग्रह भी मजबूत बनें. इसके बाद सूर्य के सामने हाथ जोड़ कर अपनी प्रार्थना करें. जिससे आपके ऊपर उनकी कृपा बनें.

2-कभी भी बिना स्नान किएं जल नहीं अर्पित करना चाहिए, क्योंकि बिना स्नान किएं आपकं शरीर के रोमछिद्र खुलेंगे नहीं जिसके कारण आपको शरीर में सूर्य की किरणे प्रवेश नहीं कर पाएगी.

3-कई लोगो के मन में धारणा होती ह कि जल अर्पित करते समय पैर में पडने वाली छीटें से आपको फल नहीं मिलेगा. लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता है. ज्योतिषचार्यों के अनुसार जल का प्रभाव और सूर्य की किरणों का प्रभाव केवल आपके सिर से नाभि तक ही होता है. इसलिए इसका कोई असर नहीं होता है.

4-अगर आप जो जल अर्पित करते है उस जल में गुड और चावल मिलाते है तो ये न करें. इसका कोई भी महत्व नहीं है. अगर आपको जल चढाना है तो उसमें हल्दी, कुमकुम या फिर कलर मिला सकते है. ये भी उतना ही महत्व रखता है.

जाने कैसे करते है भगवान का अभिषेक

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -