कैसे पहचाने की कंप्‍यूटर में वायरस है या नहीं

कैसे पहचाने की कंप्‍यूटर में वायरस है या नहीं

वॉयरस इंटरनेट द्वारा बड़ी आसानी से आपके PC में आकर न सिर्फ सारी जानकारियां चुरा लेंगे बल्कि आपके PC को करेप्ट भी कर सकते हैं। हम जब भी कोई Mail ओपन करते हैं तो इंबॉक्स में जरूरी मेलों के अलावा कई स्पैम मेल भी आती है, वैसे तो कोशिश यही करें कि इन स्पैम मेल को ओपेन करने से पहले ये जान लें कि इन्हें खोलने जरूरी भी है या नहीं क्योंकि कभी-कभी स्पैम मेल के द्वारा PC में वॉयरस अटैक हो सकता है। लेकिन सबसे बड़ी दिक्कत तब आती है जब तक हमें PC में वॉयरस होने के बारे में पता चलता है तब तक काफी देर हो चुकी होती है।

दोस्तों आईए कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बात करते हैं जिनकी मदद से आप अपने PC में वॉयरस का पता लगा सकते हैं। अगर आपके PC में कोई एकाउंट अपने मन से साइन आउट हो रहा हो या फिर बार बार PC क्रेश करता हो तो तुरंत किसी अच्छे एंटी वॉयरस से उसे स्कैन कराएं। अगर आपके PC में पड़ा एंटीवॉयरस आपको खतरनाक मॉलवेयर के बारे में अलर्ट नहीं भेजता तो कई और तरीके हैं PC में वॉयरस अलर्ट पाने के लिए, जैसे जब भी आप PC में कोई सॉफ्टवेयर इंस्टॉल वो इंस्टॉल नहीं होगा हो सकता है

 आपका PC फिर से रीस्टार्ट हो जाए इसका मतलब आपके PC में कुछ गड़बड़ है। अगर अापके PC की स्पीड अचानक स्लो हो जाएं तो समझिए आपके PC में वॉयरस या मॉलवेयर आ चुके हैं। अगर आपके PC में अपने आप कोई ऐसा मैसेज आने लगे जो बंद होने पर भी न जाए तो समझिए कोई मॉलवेयर या वॉयरस आ चुका है। अगर आपके PC में सेव फाइलों का साइज अपने मन से बदलने लगे तो समझिय PC के सॉफ्टवेयर में कोई गड़बड़ी फैला रहा है।