Share:
कई बीमारियों से राहत दिलाता है म्यूजिक, जानिए कैसे?
कई बीमारियों से राहत दिलाता है म्यूजिक, जानिए कैसे?

संगीत सुनना हममें से कई लोगों का साझा जुनून है। चाहे कारों या महानगरों में यात्रा कर रहे हों या विभिन्न गतिविधियों में व्यस्त हों, हर कोई संगीत सुनना पसंद करता है। हालाँकि, आप शायद यह नहीं जानते होंगे कि संगीत सुनना आपके स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक फायदेमंद है। जी हां, संगीत एक थेरेपी की तरह काम करता है और कई मानसिक बीमारियों से राहत दिलाता है। तेज़ संगीत के विपरीत, सुखदायक संगीत तनावग्रस्त मांसपेशियों को आराम देता है, जिससे तनाव, चिंता और अवसाद से महत्वपूर्ण राहत मिलती है।

आइए संगीत चिकित्सा के फायदों के बारे में जानें:

संगीत के माध्यम से ध्यान:
अक्सर कहा जाता है कि ध्यान तनाव को कम करने में मदद करता है। इसी तरह, हल्का संगीत सुनना ध्यान के रूप में काम करता है, जिससे हमारे दिमाग को आराम मिलता है। कई व्यक्ति ध्यान सत्र के दौरान हल्का संगीत सुनना पसंद करते हैं।

पार्किंसंस और अल्जाइमर में सहायता:
पार्किंसंस रोग में झटके आते हैं, जबकि अल्जाइमर में स्मृति हानि होती है। ऐसी गंभीर स्थितियों में, दवाओं के साथ-साथ संगीत चिकित्सा की भी सिफारिश की जाती है।

मूड में सुधार:
आपने अनुभव किया होगा कि संगीत सुनने से आपका मूड बेहतर हो सकता है। संगीत का मस्तिष्क पर शांत प्रभाव पड़ता है, जिससे हैप्पी हार्मोन का उत्पादन बढ़ जाता है। इससे हमारे मूड पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

थकान से राहत:
अत्यधिक थकान महसूस होने पर संगीत सुनने से राहत महसूस होती है। संगीत थकान को कम करने में मदद करता है, और लोग अक्सर इस उद्देश्य के लिए सुखदायक या अपने पसंदीदा संगीत सुनना पसंद करते हैं।

तनाव और अवसाद नियंत्रण:
संगीत शरीर और दिमाग दोनों को आराम देने के साधन के रूप में कार्य करता है, तनाव और चिंता को कम करने में सहायता करता है। यह तनाव और अवसाद को नियंत्रित करने में एक शक्तिशाली उपकरण के रूप में कार्य करता है।

मनोरंजन का स्रोत होने के अलावा, संगीत एक चिकित्सीय उपकरण के रूप में भी काम करता है जो मानसिक और शारीरिक कल्याण में योगदान देता है। यह उपचार और विश्राम के लिए एक समग्र दृष्टिकोण है, जो इसे आत्म-देखभाल का एक मूल्यवान पहलू बनाता है। संगीत को अपनी दैनिक दिनचर्या में शामिल करने से हमारे समग्र स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता पर गहरा सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। तो, अगली बार जब आप अपने इयरफ़ोन प्लग इन करें या अपनी कार में वॉल्यूम बढ़ाएं, तो याद रखें कि आप केवल संगीत का आनंद नहीं ले रहे हैं - आप अपने दिमाग और शरीर के लिए एक प्रकार की थेरेपी अपना रहे हैं।

क्या लाडले को हर मुद्दे पर आता है गुस्सा करता है हर बात का विरोध तो इस तरह करें हैंडल

आंखों की थकान कैसे दूर करें? 5 एक्सरसाइज की मदद लें, बरकरार रहेगी रोशनी

हार्ट अटैक के बाद ऐसे रखें अपने दिल का ख्याल, एक्सपर्ट्स से जानें क्या खाएं और क्या नहीं

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -