घरेलू नुस्खों से एसीडिटी को कहे Bye-Bye

खाने मे सबको मसालेदार और चटपटा खाना पसंद आता है। ज्यादातर महिलाए चटपटा खाना पसंद करती है। लेकिन चटपटा और मसालेदार खाना खाने से पेट मे जलन होती है। पेट मे जलन एसीडिटी कहलाती है। कई बार जलन इनता बढ़ जाता है मानो पेट में आग लग गई हो। एसीडिटी का इलाज भी संभव है। आयुर्वेद में है ईलाज, होम्योपपैथी और एैलोपैथी जिससे एसीडिटी से छुटकारा पा सकते है और घरेलू नुस्खों से भी आप एसीडिटी से छुटकारा पा सकते हैं। आइए जाने, आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों से एसीडिटी पर लगाए लगाम।   

एसीडिटी कारण और लक्षण
चटपटा, मसालेदार और जंकफूड खाने से एसीडिटी मे समस्या होती है। 
एसीडिटी कारण 
1. अधिक एल्‍‍कोहल और नशीले पदार्थों का सेवन करने से 
2. लंबे समय और ज्यादा दवाईयों के सेवन से
3. शरीर में गर्मी बढ़-बढ़ जाना से
4. देर रात भोजन करे से और भोजन के बाद भी कुछ न कुछ खाना से 
5. लंबे समय तक भूखे रहने के बाद एकदम अधिक खाना खाना से 

एसीडिटी लक्षण 
1.एसीडिटी के तुरंत बाद पेट में जलन होने लगती है। 
2. कड़वी और खट्टी डकारें आती है। 
3. लगातार गैस बनना बनने लगती है।
4. सिर मे दर्द की शिकायत भी हो सकती है।
5. उल्टी होने का अहसास, थकान होती है और भारीपन भी लगता है। 

एसीडिटी से पाए छुटकारा 
1. आंवला चूर्ण एसीडिटी से छुटकारा दिलाता है। इसके लिए सुबह- शाम आंवले का चूर्ण खाए। 
2. अदरक भी फायदेमंद है। इसके लिए अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों ले और गर्म पानी में उबाल ले फिर इसे पी लें।  
3. मुनक्का या गुलकंद को दूध में उबालकर ले सकते हैं।   
4. नीम की छाल को अच्छे से पीस ले और चूर्ण बनाकर पानी के साथ लें या रात को पानी में नीम की छाल भिगो कर सुबह इसका पानी भी पी सकते है। 
5. मुलैठी का चूर्ण या फिर इसका काढ़ा बना के ले सकते है।  
6. अधिक मात्रा में पानी पीए। 
7. दोपहर के खाने से पहले पानी में नींबू और मिश्री का मिश्रण का सेवन करें। 
8. नियमित रूप से व्यायाम करें।  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -