हाई कोलेस्ट्रॉल बढ़ाता है हार्ट अटैक का खतरा, छुटकारा पाने के लिए आज से ही खाना शुरू कर दें ये चीजें
हाई कोलेस्ट्रॉल बढ़ाता है हार्ट अटैक का खतरा, छुटकारा पाने के लिए आज से ही खाना शुरू कर दें ये चीजें
Share:

आज के युग में युवा व्यक्तियों में उच्च कोलेस्ट्रॉल का प्रचलन तेजी से बढ़ रहा है। कोलेस्ट्रॉल, शरीर की सभी कोशिकाओं में पाया जाने वाला एक मोमी पदार्थ है, जो विभिन्न शारीरिक कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। जबकि लीवर कोलेस्ट्रॉल का उत्पादन करता है, मांस और डेयरी उत्पाद जैसे कुछ खाद्य पदार्थ भी शरीर में इसकी उपस्थिति में योगदान करते हैं। उचित शारीरिक कार्यों के लिए पर्याप्त कोलेस्ट्रॉल आवश्यक है, लेकिन इसकी अधिकता से रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल जमा हो सकता है, जिससे हृदय रोगों का खतरा पैदा हो सकता है।

अच्छे और बुरे कोलेस्ट्रॉल को समझना:
कोलेस्ट्रॉल को रक्तप्रवाह में लिपोप्रोटीन, विशेष रूप से कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) और उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल) द्वारा ले जाया जाता है। एलडीएल, जिसे अक्सर "खराब कोलेस्ट्रॉल" कहा जाता है, कोलेस्ट्रॉल को कोशिकाओं तक ले जाता है, जबकि एचडीएल, जिसे "अच्छा कोलेस्ट्रॉल" कहा जाता है, अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल को हटाने के लिए यकृत में वापस भेजता है।

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए खाद्य पदार्थ:
चिया बीज:

चिया बीज ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। वजन प्रबंधन के लिए लोकप्रिय, चिया बीज वजन घटाने से परे लाभ प्रदान करते हैं, जिसमें कोलेस्ट्रॉल में कमी, मधुमेह प्रबंधन और हृदय स्वास्थ्य के लिए सहायता शामिल है। चिया बीज में घुलनशील फाइबर खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है, जबकि ओमेगा -3 फैटी एसिड स्वस्थ दिल को बनाए रखने में योगदान देता है। इसके अतिरिक्त, चिया बीजों में सूजन-रोधी गुण होते हैं, जो समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं।

जई:
ओट्स में घुलनशील फाइबर होता है, जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है और रक्तप्रवाह में इसके अवशोषण को कम करता है। प्रतिदिन 5 से 10 ग्राम घुलनशील फाइबर का सेवन कोलेस्ट्रॉल प्रबंधन में महत्वपूर्ण योगदान दे सकता है। ओट्स को आसानी से किसी के आहार में शामिल किया जा सकता है और यह विभिन्न रूपों में उपलब्ध है, जैसे ओटमील या ओट चोकर। ओट्स का नियमित सेवन हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का एक सरल और प्रभावी तरीका है।

सूखे मेवे:
बादाम और अन्य सूखे मेवे जैसे मेवे कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर अखरोट हृदय की सुरक्षा में योगदान देता है और हृदय संबंधी समस्याओं के जोखिम को कम करता है। बादाम, काजू, अखरोट और मखाना न केवल स्वस्थ वसा प्रदान करते हैं बल्कि फाइबर का भी अच्छा स्रोत हैं। आहार में विभिन्न प्रकार के मेवे और सूखे मेवे शामिल करने से समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

निष्कर्ष में, एक स्वस्थ जीवनशैली अपनाने और सावधानीपूर्वक आहार विकल्प चुनने से युवा वयस्कों में भी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रबंधित करने में महत्वपूर्ण योगदान मिल सकता है। चिया सीड्स, ओट्स और ड्राई फ्रूट्स जैसे कोलेस्ट्रॉल कम करने वाले खाद्य पदार्थों को दैनिक आहार में शामिल करना एक सरल लेकिन प्रभावी तरीका हो सकता है। आहार में बदलाव के साथ-साथ, नियमित शारीरिक गतिविधि और स्वस्थ वजन बनाए रखना समग्र हृदय स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। युवा व्यक्तियों को स्वस्थ और लचीला भविष्य सुनिश्चित करने के लिए इन सकारात्मक जीवनशैली विकल्पों को अपनाने में सक्रिय होना चाहिए।

सर्दियों का जादू है ये हर्बल टी, इम्यूनिटी के साथ-साथ देगी भरपूर एनर्जी

तनाव और डिप्रेशन से दूर रहना चाहते हैं तो आज से ही अपनाएं ये 10 सबसे कारगर टिप्स, तनाव दूर होगा और आपको मिलेगी सिर्फ खुशी

जानिए सर्दियों के मौसम में कब और कितनी देर तक पैदल चलना फायदेमंद हो सकता है, जानिए और इस समय इससे बचें

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -