Share:
नहीं हो रही है शादी या अच्छा नहीं चल रहा शादीशुदा जीवन तो हरितालिका तीज पर करें यह खास उपाय
नहीं हो रही है शादी या अच्छा नहीं चल रहा शादीशुदा जीवन तो हरितालिका तीज पर करें यह खास उपाय

हरितालिका तीज का व्रत हर साल महिलाएं रखती हैं। यह पर्व विशेष तौर पर विवाह और वैवाहिक संबंधों को उत्तम बनाने वाला पर्व है। जी हाँ और हरतालिका तीज का व्रत इस साल 30 अगस्त को रखा जाने वाला है। कहा जाता है इस दिन छोटे से उपाय से विवाह से जुड़ी हर समस्या का समाधान पाया जा सकता है। कई बार विवाह योग्य उम्र होने के बावजूद कई लोगों का विवाह नहीं हो पाता है और अगर किसी तरह उनका विवाह हो भी जाए तो दांपत्य जीवन में खुशियों की कमी रहती है। अगर आप भी इसी लिस्ट में शामिल हैं तो इन उपायों को आजमा सकते हैं जिनके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं।


* जिन लोगों को बार-बार रिश्ता टूटने की शिकायत है, वो सुबह निर्जला या फलाहार उपवास रखें। उसके बाद प्रदोष काल में पीले वस्त्र धारण करके शिवजी के मंदिर जाएं। शिवलिंग पर सफेद चंदन और जल अर्पित करें और माता पार्वती को कुमकुम अर्पित करें। "ॐ पार्वतीपतये नमः" मंत्र का 108 बार जाप करें। इसके बाद चढ़ाया गया कुमकुम अपने पास रख लें और स्नान के बाद नियमित रूप से सिंदूर का टीका लगाते रहें। इस उपाय को करने से बार-बार रिश्ता टूटने की समस्या दूर की जा सकती है।


* दांपत्य जीवन में सही तालमेल ना हो तो हरितालिका तीज के दिन निर्जला या फलाहार उपवास रखें। उसके बाद शाम के समय सम्पूर्ण श्रृंगार करके शिव मंदिर जाएं। शिवजी को इत्र और जल अर्पित करें। पार्वती जी को सिन्दूर और चुनरी अर्पित करें। "ॐ गौरीशंकराय नमः" का 108 बार जाप करें। उसके बाद अर्पित की गई चुनरी में 11 रुपये बांधकर हमेशा अपने पास रखें। ये एक उपाय करने से आपका दांपत्य जीवन खुशियों से भर जाएगा।

* अगर पति-पत्नी के बीच दूरियां आ गई हों तो सुबह से निर्जला या जल पीकर उपवास रखें। जी दरअसल आप प्रदोष काल में सम्पूर्ण श्रृंगार करें और शिव मंदिर जाएं। वहीँ मंदिर में घी का एक चौमुखी दीपक जलाएं। उसके बाद शिव को चंदन और माता पार्वती को सिन्दूर और लाल चूड़ियां अर्पित करें। फिर "नमः शिवाय" मंत्र का 108 बार जाप करें। चूड़ियों को प्रसाद स्वरूप अपने साथ लाएं और हमेशा इन्हें पहने रहें।

सुख-शांति और समृद्धि के लिए गणेश चतुर्थी के दिन करें मयूरेश स्त्रोतम् का पाठ

पति भी रख सकते हैं हरतालिका तीज का व्रत, कथा सुने बिना नहीं होता पूरा

उंगली ऐसी होने पर कारोबार में होता है भयंकर नुकसान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -