मोदी को मिली आचार संहिता के उल्लंघन मामले में क्लीन चिट

अहमदाबाद : आम आदमी पार्टी के एक कार्यकर्ता निशांत वर्मा ने गुजरात की निचली अदालत में आदर्श चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के मामले में प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ याचिका दायर की थी। जिसमें उन पर कार्रवाई की मांग की गई थी। न्यायधीश जे बी पारदीवाला ने इस याचिका को स्वीकार करने से इंकार किया था। अब इसी मामले को गुजरात हाइकोर्ट ने सही ठहराते हुए इस याचिका को सिरे से खारिज कर दिया है।

हाइकोर्ट ने कहा कि मजिस्ट्रेट का फैसला उचित है। इस पर कार्यकर्ता की दलील ये थी कि निचली अदालत ने इस याचिका को खारिज करने में नियमों का पालन नही किया, जबकि हाइकोर्ट ने यह कहते हुए इसे खारिज किया कि सारे नियमों का पालन हुआ है।

मामला यह है कि पिछले साल 30 अप्रैल 2014 को जब गुजरात में 26 लोकसभा सीटों के लिए मतदान हो रहा था तब भाजपा के प्रधानमंत्री पद के दावेदार मोदी ने अहमदाबाद के रानिप इलाके में एक स्कूल में वोटिंग के तुरंत बाद प्रेस कांफ्रेंस किया था और अपनी पार्टी का प्रतीक चिन्ह कमल दिखाया था। कमल के साथ मोदी ने एक सेल्फी भी ली थी। अब इस मामले में मोदी बिल्कुल पाक-साफ बरी हो गए है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -