सोफिया स्कूल में छात्राओं से पूछा- 'कमर और नितंब का आकार', भड़के अभिभावकों ने की कार्यवाही की मांग
सोफिया स्कूल में छात्राओं से पूछा- 'कमर और नितंब का आकार', भड़के अभिभावकों ने की कार्यवाही की मांग
Share:

अजमेर: राजस्थान के अजमेर से एक चौंकाने वाली घटना सामने आ रही है यहाँ स्थित सोफिया स्कूल एक बार फिर से ख़बरों में है। जयपुर रोड पर स्थित सोफिया विद्यालय ने सभी छात्राओं से उनके हिप्स एवं वेस्ट (कमर और नितंबों) का आकार पूछा है। ऐसा उसने स्पोर्ट्स एक्टिविटीज के नाम पर किया है। विशेष बात ये है कि बच्चों से मेडिकल प्रमाण पत्र भी माँगा गया है। दावा किया गया है कि ऐसा इसीलिए किया गया, क्योंकि उनके शरीर के हिसाब से खेलों में सम्मिलित किया जा सके। सोफिया विद्यालय की इस हरकत पर परिजनों ने नाराजगी व्यक्त की है, वहीं स्कूल का कहना है कि ऐसा पहली बार नहीं है बल्कि वो प्रत्येक वर्ष ये डाटा इकट्ठा करता रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अजमेर के सोफिया सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 2500 से अधिक बच्चे पढ़ाई करते हैं। इन सभी बच्चों को 7 दिन पहले हेल्फ और एक्टिविटी कार्ड के नाम से एक फॉर्म भरने को दिया गया। इसमें खेलों के नाम लिखे थे तथा नीचे की ओर हेल्थ रिकॉर्ड के कॉलम में बिजन, कान, दाँत के साथ पल्स रेट, हाइट एवं हिप्स व वेस्ट का नाप भी बताना था। इस फॉर्म के कारण बच्चे पशोपेश में हैं। घरवालों का पूछना है कि स्कूल बच्चों की व्यक्तिगत जानकारी क्यों माँग रहा है? अभिभावक कह रहे हैं कि लंबाई, वजन ये सब चीजें सामान्य है, मगर हिप्स का साइज क्यों? स्कूल में स्पोर्ट्स एक्टिविटी के नाम पर ये क्या हो रहा है? उनका कहना है कि बच्चों को इस फॉर्म के हिसाब से मेडिकल रिपोर्ट भी जमा करनी है, जिसके लिए उन्हें चिकित्सालयों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

अपने एक इंटरव्यू में स्कूल के प्रतिनिधि सुधीर तोमर ने बताया है कि इस फॉर्म का मकसद बॉडी मास्क इंडेक्स निकालना है, जिससे बच्चों को उनके शरीर के हिसाब से खेलों में सम्मिलित जाए। ऐसा करने से उन्हें ही फायदा होगा। ये सभी जानकारियाँ डॉक्टर की रिपोर्ट पर आधारित होंगी। सोफिया स्कूल के बारे में बता दें कि ये अजमेर सेक्स स्कैंडल के वक़्त भी ख़बरों में रहा था। 80 के दशक के उत्तरार्ध और 90 के दशक की शुरुआत में ये मामला सामने आया था, जिसमें दुष्कर्मियों में दरगाह के चिश्ती परिवार के लोग तथा कॉन्ग्रेस नेताओं के नाम सामने आए। बता दें कि फारूक चिश्ती ने सोफिया सीनियर सेकंडरी स्कूल की एक लड़की को शिकार बना कर इस काण्ड की शुरुआत की थी तथा बाद में वो बाद में अदालतों में स्वयं को मानसिक रूप से अस्वस्थ साबित कराने में कामयाब हो गया। तत्पश्चात, उस लड़की की दोस्तों को शिकार बनाया गया तथा इस प्रकार चेन जुड़ता चला गया तथा कई लड़कियाँ बलात्कार-ब्लैकमेलिंग के इस प्रकरण का शिकार हुईं।

मुंबई में फटी पाइपलाइन, लबालब हुईं सड़कें, हजारों लीटर पानी हुआ बर्बाद

70 करोड़ लोगों के पास शौचालय नहीं, चाँद पर क्यों पैसा खर्च रहे ? BBC के सवाल पर आनंद महिंद्रा ने दिया मुंहतोड़ जवाब

मुश्किल था, फिर भी दक्षिण ध्रुव ही क्यों चुना ? चंद्रयान-3 की सफलता के बाद ISRO चीफ ने दिया जवाब

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -