विहिप नेता सिंघल आज होंगे पंचतत्व में विलीन

नई दिल्ली : विश्व हिंदू परिषद के संरक्षक अशोक सिंघल का मंगलवार को निधन हो गया। आज उनका अंतिम संस्कार दिल्ली के निगमबोध घाट पर किया जाएगा। अशोक सिंघल के अंतिम संस्कार में भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ नेता पहुंचेंगे। उल्लेखनीय है कि गुड़गांव के निजी चिकित्सालय में अशोक सिंघल का सांस लेने में तकलीफ आने के कारण निधन हो गया था। उन्हें गुड़गांव के मेदांता चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया। अशोक सिंघल की पार्थिव देह को अंतिम दर्शनों के लिए झंडेवालान स्थित विश्व हिंदू परिषद के कार्यालय में रखा गया है।

बड़े पैमाने पर सिंघल का अंतिम दर्शन करने के लिए गणमान्यजन पहुंच रहे हैं। बयान के दौरान यह कहा गया है कि यमुना के तट पर मौजूद निगमबोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। सिंघल ने गुड़गांव स्थित मेदांता - मेडिसिटी चिकित्सालय में दोपहर 2.20 बजे अंतिम सांस ली।

अशोक सिंघल को 13 नवंबर को अस्पताल मे भर्ती करवाया गया था। उन्हें गुर्दे संबंधि और दिल संबंधी परेशानी होने लगी। यही नहीं उन्हें सांस लेने में भी परेशानी आने लगी थी। मंगलवार को अचानक उनकी तबियत बिगड़ी जिसके बाद मगर उपचार के दौरान उन्होंने अंतिम सांस ली। सिंघल 89 वर्ष के थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीएचपी नेता सिंघल के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए ट्विट किया। जिसमें उन्होंने लिखा कि अशोक सिंघल ऐसे सामाजिक कार्यों में लगे थे जिसका लाभ गरीबों को भी होता था। वे पीढि़यों को प्रेरणा देते रहे हैं और आगे भी देते रहेंगे। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -