पूर्व PM मनमोहन ने PM मोदी को दी थी कश्मीर समझौते की गुप्त रिपोर्ट

Oct 08 2015 03:17 PM
पूर्व PM मनमोहन ने PM मोदी को दी थी कश्मीर समझौते की गुप्त रिपोर्ट

नई दिल्ली : पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ द्वारा जम्मू - कश्मीर के विवाद को सुलझाने के मामले में ड्राफ्ट तैयार किया गया था। यह ड्राफ्ट बाद में मनमोहन सिंह द्वारा व्यक्तिगत तौर पर 27 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुपुर्द कर दिया गया। एक अंग्रेजी अखबार ने वरिष्ठ भारतीय डिप्लोमैट के हवाले से यह दावा किया है। पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद कसूरी द्वारा करते हुए अपनी किताब नाईदर ए हाॅक नाॅर ए डव का विमोचन किया गया। भारत पहुंचे कसूरी ने भी चैनलों से चर्चा में दावा किया कि मुशर्रफ और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मध्य जम्मू-कश्मीर विवाद पर सहमति  बन गई थी।

इस मामले में कसूरी की पुस्तक में लिखा गया कि कश्मीर पर गुप्त समझौते को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच हुए करार के तौर पर प्रबंधन सेना हटाने की बात कही गई। मिली जानकारी के अनुसार ड्राॅफ्ट में जम्मू कश्मीर के साथ पाक अधिकृत कश्मीर में सरकारों और दोनों ही देशों की सरकारों के अधिकारियों को लेकर सलाहकार नियुक्त किए गए थे। इस तरह के तंत्र के माध्यम से कश्मीर समस्या सुलझाने की बात को लेकर चर्चा की गई थी।

हालांकि भारत ने मुशर्रफ के कश्मीर में साझा प्रबंधन के संस्थान की बात को नकार दिया था क्योंकि इससे भारतीय प्रभुता समाप्त हो जाती। इस तरह के ड्राफ्ट को लेकर मनमोहन सिंह के राजदूत सतिंदर लांबा व मुशर्रफ के रियाज मुहम्मूद के मध्य करीब 30 बैठकों का आयोजन किया गया। मगर इसके बाद भी भारत और पाकिस्तान के मध्य समस्या जस की तस बनी हुई है। भारत और पाकिस्तान के बीच आतंकवाद भी एक बड़ा मसला है लेकिन हर वार्ता के पहले पाकिस्तान फायरिंग कर देता है। जिससे बैठक बिगड़ जाती है।