कानपुर की पांच फैक्ट्रियों में आग से करोड़ों की संपत्ति जलकर राख

कानपुर : गोविंदनगर थाना इलाके के दादा नगर स्थित पांच फैक्ट्रियों में आग लगने से करोड़ों रूपए की संपत्ति जलकर राख हो गई। गार्ड और कर्मचारी जान बचाकर भागे, लेकिन लपटों में एक परिवार भी घिर गया। फायर कर्मियों ने सभी को सुरक्षित बचा लिया। करीब पांच घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका है। लेकिन अग्निकांड के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है। नुकसान का आकलन जारी है।

यूपी सूचना विभाग की नई पहल अब संस्कृत भाषा में भी जारी होगा प्रेस नोट

इस तरह लगी आग 

जानकारी के मुताबिक दादा नगर के सेक्टर बी में बड़े खाली प्लाट में पांच फैक्ट्रियां सचालित हैं। जिसमें कचरी, चूरन, केमिकल, स्क्रैब और आयरन का काम होता है। मंगलवार सुबह कचरी के गोदाम में अज्ञात कारणों से आग लग गई। गोदाम से आग की लपटें उठने लगीं। फैक्ट्री के अंदर रहने वाले वीरेन्द्र सिंह का परिवार आग की लपटों में घिर गया। किसी तरह से वहां मौजूद लोगों ने पूरे परिवार को फैक्ट्री से बाहर निकाला। लेकिन उनकी पूरी गृहस्थी जलकर राख हो गई। 

अब हरियाणा में भी नजर आया वायु तूफान का असर जमकर चली हवा-आंधी

बुझाने में दमकल कर्मियों को आये पसीने 

इसी के साथ कचरी फैक्ट्री से उठने वाली लपटों ने चूरन, केमिकल, स्क्रैब और आयरन फैक्ट्री को भी अपनी चपेट में ले लिया। पूरी फैक्ट्री धू-धू कर जलने लगी। सूचना पाकर पहुंचे दमकल कर्मियों ने मोर्चा संभाला। कर्मियों ने पास की फैक्ट्रियों से खाली फायर ब्रिग्रेड की गाड़ियों को भरने का काम किया। पूरी फैक्ट्री की चारो तरफ से घेराबंदी करके पानी की बौछार की गई। जिसकी वजह से आग नहीं बढ़ पाई। दीवारों को तोड़ कर फैक्ट्री में धधक रही आग को बुझाया गया।

बिहार के ख़राब हालातों को देखते हुए झारखंड में भी चमकी को लेकर अलर्ट जारी

तीन महिलाओं समेत छह नक्सलियों ने पुलिस के समक्ष किया हथियारों के साथ आत्मसमर्पण

रायगढ़ घूमने गए पर्यटकों में से तीन की कुंडलिक नदी में डूबने से मौत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -