किसानों के सर्वमान्य नेता थे चौधरी चरण सिंह इनकी याद में मनाया जाता है किसान दिवस
किसानों के सर्वमान्य नेता थे चौधरी चरण सिंह 
इनकी याद में मनाया जाता है किसान दिवस
Share:

भारत में किसान को देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ कहा जाता है। देश में हर साल 23 दिसंबर को किसानों के प्रति अपना सम्‍मान व्‍यक्‍त करने के लिए भारत के पांचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के मौके पर देश में किसान दिवस मनाया जाता है। चौधरी चरण सिंह वे सर्वमान्य नेता थे, जिन्होंने किसानों के हित और उद्धार के लिए कई कार्य किए। जिसके चलते साल 2001 में भारत सरकार ने इनके जन्मदिन यानी  23 दिसंबर को किसान दिवस मनाने का फैसला किया था।   

भारतीय किसानों के कल्याण के लिए कड़ी मेहनत करने वाले चौधरी चरण सिंह बहुत कम समय के लिए प्रधानमंत्री थे। लेकिन वे इसी कम समय के कार्यकाल में देश के अपने किसान भाइयों के दिलों पर कब्ज़ा कर चुके थे। एक बार राजनीति से जुड़ने के बाद चौधरी चरण सिंह ने वापस मुड़कर नहीं देखा। प्रदेश सरकार में योग्यता एवं अनुभव के कारण उन्हें ऊँचा मुक़ाम हासिल हुआ था। वह 28 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980 तक प्रधानमंत्री के पद पर रहे। 

भारत के पांचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर 1902 को हुआ था। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के नूरपुर गांव में एक मध्यमवर्गीय किसान परिवार में उन्होंने जन्म लिया। जन्म के बाद उनका बचपन मेरठ जिले के भूपगढ़ी गांव में गुजरा। इस दौरान उन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ आंदोलन में हिस्सा लिया था। जिसके कारण 1941 में उन्हें जेल भी जाना पड़ा। जिला कारागार में उन्हें जिस बैरक में रखा गया था, वह आज भी चौधरी चरण सिंह के नाम पर ही है।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -