Share:
बिहार में पुलिस भी सुरक्षित नहीं ! आरोपी को पकड़ने गए जवानों की दौड़ा-दौड़ाकर हुई पिटाई
बिहार में पुलिस भी सुरक्षित नहीं ! आरोपी को पकड़ने गए जवानों की दौड़ा-दौड़ाकर हुई पिटाई

पटना: बिहार में जंगलराज लौटाता हुआ दिखाई दे रहा है, राज्य में आए दिन आपराधिक घटनाएं हो रहीं हैं। वहीं, बिहार में अपराधियों के हौसले इतने बुलद हो गए हैं कि, वो अब सरेआम पुलिस पर हमला करने से भी नहीं चूक रहे हैं। दरअसल, भागलपुर के गोपालपुर थाने के अंतर्गत आने वाले डेमहा गांव में एक आरोपी को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया।

रिपोर्ट के अनुसार, ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। पुलिस गत रात आरोपी प्रदीप मंडल को अरेस्ट करने गाँव में पहुंची थी। जानकारी के अनुसार, गांव के दो गुटों में मारपीट हो गई थी। जिसे शांत कराने पुलिस की टीम वहां पहुंची थी। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। पुलिस स्थानीय मुखिया प्रदीप मंडल को अरेस्ट करना चाहती थी। जिसके बाद प्रदीप के परिजनों ने महिलाओं को आगे कर बवाल शुरू कर दिया। जिसके चलते गोपालपुर पुलिस को उलटे पाँव वहां से भागना पड़ा। 

हालाँकि, पुलिस पर हमले के बाद कई थानों की फोर्स डेमहा गांव पहुंची। तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ। जिसके बाद पुलिस ने प्रदीप मंडल को अरेस्ट कर लिया। वहीं, महिलाओं ने पुलिस पर अकारण पिटाई करने का आरोप लगाया है। आरोपी प्रदीप की पत्नी ने कहा कि लाठीचार्ज के बाद ग्रामीण पुलिस से लड़ पड़े थे। इस घटना में कई पुलिसवालों को चोटें आई है। जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला- आरोपी के दोस्तों और रिश्तेदारों की 'आयकर' तलाशी लेना सही

ये है 'लोकतंत्र' के लिए असली खतरा ! लोकसभा में 35% तो राज्यसभा में 24% ही हुआ काम, जमकर हुआ हंगामा

उमेश पाल हत्याकांड: अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन की जमानत अर्जी खारिज, तलाश में जुटी है पुलिस

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -