आयोग को चिंता, नियमों की न हो अनदेखी

नई दिल्ली : चुनाव आयोग को इस बात की चिंता है कि अमिट स्याही के उपयोग में कहीं आयोग के नियमों का उल्लंघन न हो। इसके लिये आयोग की तरफ से केन्द्र सरकार के वित्त मंत्रालय को पत्र भेजा गया है।

गौरतलब है कि केन्द्र की मोदी सरकार ने यह निर्णय लिया है कि बैंकों में पैसा जमा कराने वालों और पांच सौ, एक हजार रूपये के नोट बदलाने पहुंचने वाले लोगों को अमिट स्याही लगाई जायेगी, लेकिन इस मामले को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है। सरकार का उद्देश्य भले ही संदिग्ध जमाकर्ताओं पर नजर रखना हो लेकिन आयोग को यह चिंता सता रही है कि कहीं इसके चलते नियमों की अनदेखी न हो।

वित्त मंत्रालय को भेजे गये पत्र में कहा गया है कि वह जमाकर्ता लोगों को भले ही अमिट स्याही लगाये, लेकिन उन राज्यों के लोगों को किसी तरह की समस्या नहीं होना चाहिये, जहां उपचुनाव होना है। आपको बता दें कि 19 नवंबर के दिन पांच राज्यों में उपचुनाव होना है।

चुनाव आयोग जांचेगा स्मृति की डिग्री

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -