शिवरात्रि पर भांग खाने से 350 की तबियत बिगड़ी, 3 की हुई मौत
शिवरात्रि पर भांग खाने से 350 की तबियत बिगड़ी, 3 की हुई मौत
Share:

मेहसाना : महाशिवरात्रि के अवसर पर एक भोले बाबा के जिस प्रसाद अर्थात भंगिया को लेकर लोग मचल जाते हैं उस भांग खाने के कारण करीब 3 लोगों की हालत खराब हो जाने से इनकी मौत हो गई। दूसरी ओर करीब 350 लोग बीमार हो गए। दरअसल यह घटना मेहसाना जिले के बुडासान और करनपुर गांव में घटी। नटूजी ठाकुर उम्र 14 वर्ष है, विपुल ठाकुर 17 वर्ष और मुकेश मरवाड़ी 35 के तौर पर मृतकों की पहचान हुई है। इस तरह का घटनाक्रम हो जाने के बाद लोगों को क्षेत्र के चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है। लोगों को उपचार दिया जा रहा है।

यहां करीब 350 लोगों के एक साथ बीमार हो जाने के चलते स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी, नर्स, कंपाउंडर, वार्ड बाॅय और चिकित्सकों ने आकस्मिक तौर पर चिकित्सकीय इंतजाम किए गए और जिसे बेड पर उपचार दिया जा सकता था उसे बेड पर उपचार दिया तो दूसरी ओर बेड फुल हो जाने पर भी जब पीडि़त लोग उपचार हेतु आने लगे तो उन्हें जमीन पर ही उपचार देना प्रारंभ कर दिया गया। प्रशासन द्वारा अनुमानिततौर पर दूषित सामग्री का सैंपल जब्त कर लिया गया है।

अब इसे जांच हेतु लेब में भेजा जा रहा है। पुलिस और प्रशासन ने व्यवस्था के आवश्यक इंतजाम किए। इस घटना से गांव में लोग सहम गए हैं और क्षेत्र में तनाव का माहौल है। मरीजों की संख्या बढ़ने पर क्षेत्र के विद्यालय को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के तौर पर तैयार कर दिया गया है। रोगियों में अधिकांश युवा है। इन लोगों को सांस लेने में परेशानी का अनुभव हो रहा था। डिहाईड्रेशन की परेशानी भी इन लोगों को होने लगी थी। करीब 200 लोग बीमार होने के बाद प्रशासन ने और भी लोगों की जांच की।

एहतियातन प्रभावित क्षेत्र में दौरा कर लोगों से पूछा गया और अस्वस्थ्य लोगों को अस्थायी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तक लाया गया। चिकित्सकों के दल को इस आपात स्थिति के लिए तैयार किया गया है। माना जा रहा है कि शिवरात्रि के दौरान क्षेत्र के मंदिर में भांगयुक्त प्रसाद खाने के बाद इन लोगों की हालत बिगड़ी थी अब इन लोगों से पूछताछ की जा रही है। इस मामले में बुडासान गांव के पंचायत सदस्य मिलन देसाई ने कहा कि भांग के प्रसाद को शिवरात्रि के एक दिन पूर्व ही शिव मंदिर में तैयार किया गया था। जिसे सोमवार को बांआ गया।

मेहसाना सिविल चिकित्सालय के सुपरिटेंडेंट डाॅक्टर यूबी गांधी द्वारा कहा गया कि भांग के नशो में लोगों को पता ही नहीं लगा कि उनकी तबियत बिगड़ रही है जब उनकी हालत अधिक बिगड़ गई तो उन्हें चिकित्सालय लाया गया। इस मामले में राज्य के खाद्य  विभाग के आयुक्त एचजी कोशिया ने कहा कि इस घटना के बाद विभाग ने मंदिर से भांग और दूध के सैंपल ले लिया है। अब इन्हें दिल्ली भेजा गया है। इसकी रिपोर्ट आने में करीब 3 दिन लगेंगे। 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -