Share:
क्या पीरियड्स में आपको भी होता है असहनीय दर्द? तो डॉक्टर की ये सलाह दिलाएंगी राहत
क्या पीरियड्स में आपको भी होता है असहनीय दर्द? तो डॉक्टर की ये सलाह दिलाएंगी राहत

मासिक धर्म से पहले और उसके दौरान शारीरिक और भावनात्मक बदलाव का अनुभव करना महिलाओं में एक आम बात है। बायोमेड रिसर्च इंटरनेशनल जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चलता है कि 75-80% महिलाएं अपने पीरियड्स के दौरान असुविधा और बेचैनी महसूस करती हैं। यदि आप उनमें से एक हैं, तो अपनी दिनचर्या में कुछ आवश्यक प्रथाओं को शामिल करने से उन दिनों को अधिक प्रबंधनीय और आरामदायक बनाने में मदद मिल सकती है।

जलयोजन मायने रखता है:
आरामदायक मासिक धर्म चक्र के लिए पर्याप्त जलयोजन बनाए रखना महत्वपूर्ण है। पर्याप्त पानी का सेवन पेट की ऐंठन को कम करने में मदद करता है और रक्त प्रवाह को सुचारू बनाता है, जिससे मासिक धर्म में रक्त स्राव की प्रक्रिया आसान हो जाती है। समग्र स्वास्थ्य के लिए प्रतिदिन कम से कम 2.5 से 3 लीटर पानी पीने का लक्ष्य रखें।

पोषण पर ध्यान दें:
आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर संतुलित आहार खाना मासिक धर्म संबंधी परेशानी को प्रबंधित करने की कुंजी है। स्थिर ऊर्जा आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अपने आहार में भरपूर मात्रा में फल, सब्जियाँ और साबुत अनाज शामिल करें। जंक और फास्ट फूड के अत्यधिक सेवन से बचें, क्योंकि इनमें अक्सर वसा, शर्करा और नमक का उच्च स्तर होता है, जो सूजन की समस्या में योगदान देता है।

कैफीन और चीनी सीमित करें:
जबकि कैफीन मूड को अस्थायी रूप से बढ़ावा दे सकता है, अत्यधिक सेवन से चिंता बढ़ सकती है। इसके अतिरिक्त, बहुत अधिक कैफीन पेट में ऐंठन और असुविधा में योगदान कर सकता है। इसी तरह, कुछ खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों में उच्च चीनी सामग्री सूजन की समस्या को बढ़ा सकती है। डार्क चॉकलेट जैसे विकल्प चुनें और अपने समग्र कैफीन और चीनी के सेवन को नियंत्रित करें।

आराम और नींद को प्राथमिकता दें:
मासिक धर्म के दौरान थकान होना एक आम लक्षण है। सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त नींद लें, प्रति रात कम से कम 8 घंटे का लक्ष्य रखें। गुणवत्तापूर्ण नींद न केवल समग्र शारीरिक कार्यों का समर्थन करती है बल्कि हार्मोनल संतुलन बनाए रखने में भी मदद करती है।

नियमित रूप से व्यायाम करें:
आम ग़लतफ़हमियों के विपरीत, मासिक धर्म के दौरान व्यायाम करना फायदेमंद हो सकता है। पैदल चलना, योग या हल्के एरोबिक व्यायाम जैसी हल्की गतिविधियाँ रक्त परिसंचरण में सुधार कर सकती हैं और पेट की ऐंठन को कम कर सकती हैं। व्यायाम एंडोर्फिन की रिहाई को भी ट्रिगर करता है, मूड को बढ़ाता है और असुविधा को कम करता है।

मासिक धर्म संबंधी उत्पाद सोच-समझकर चुनें:
आराम और स्वच्छता के लिए सही मासिक धर्म उत्पादों का चयन करना महत्वपूर्ण है। चाहे आप मासिक धर्म कप, टैम्पोन, या सैनिटरी पैड पसंद करते हों, उन उत्पादों को प्राथमिकता दें जो आपकी आवश्यकताओं के अनुरूप हों और सुनिश्चित करें कि कोई दुष्प्रभाव न हो।

मासिक धर्म से पहले के लक्षणों को समझें:
मासिक धर्म से पहले के लक्षण हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते हैं और इसमें पाचन में बदलाव, मूड में बदलाव और पेट में दर्द शामिल हो सकते हैं। इन लक्षणों के उत्पन्न होने पर उन्हें बेहतर ढंग से तैयार करने और प्रबंधित करने के लिए स्वयं को इनसे परिचित कराएं।

अधिक आरामदायक अनुभव के लिए मासिक धर्म चक्र से पहले और उसके दौरान अपनी सेहत का ख्याल रखना आवश्यक है। इन स्व-देखभाल प्रथाओं को अपनाकर, आप असुविधा को कम कर सकते हैं और एक स्वस्थ, अधिक संतुलित जीवन शैली को बढ़ावा दे सकते हैं। याद रखें कि प्रत्येक महिला का शरीर अद्वितीय है, इसलिए अपने शरीर के संकेतों को सुनना और अपनी व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुरूप इन प्रथाओं को समायोजित करना आवश्यक है।

'सिगरेट की कीमतें और बढ़ा दो..', आम बजट से पहले केंद्र सरकार से डॉक्टरों और अर्थशास्त्रियों की मांग

जातियों के बाद अब 'शराबबंदी' पर अध्ययन करेगी बिहार सरकार ! नए सर्वे की तैयारी में जुटे सीएम नितीश कुमार

क्या आप जानते हैं अपना चेहरा साफ करने का सही तरीका? अगर नहीं तो जरूर पढ़ें ये खबर

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -