बढ़ रहा डिजिटल डॉक्टर पर भरोसा

बढ़ रहा डिजिटल डॉक्टर पर भरोसा
style="text-align: justify;">नई दिल्ली : स्मार्टफोन और इंटरनेट के आने वाले युग में संभव है कि लोग सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं के लिए चिकित्सक के पास जाएं ही नहीं, बल्कि अपने घरेलू चिकित्सक से घर बैठे इंटरनेट पर ही उन समस्याओं का निदान पा लें। एक सर्वेक्षण में खुलासा हुआ है कि 49 फीसदी इंटरनेट उपयोगकर्ता स्वास्थ्य समस्याओं के लिए इंटरनेट की मदद लेने लगे हैं। मौजूदा आंकड़ों पर गौर करें तो देश के 49 फीसदी इंटरनेट उपयोगकर्ता वास्तव में स्वास्थ्य समस्याओं के लिए इंटरनेट को तरजीह देने लगे हैं। 

इनसाइट्स ऑन इंडियन सर्चिग हेल्थ इनफॉर्मेशन ऑनलाइन सर्वे यानि इंडिया हेल्थ ऑनलाइन सर्वे में ये बातें सामने आई हैं। इस सर्वे को हेल्थ इंजिनीयरिंग कंपनी 'वाया मीडिया हेल्थ' ने आयोजित किया, जिसमें कई महत्वपूर्ण तथ्य सामने आए। सर्वेक्षण के अनुसार, "सूचना प्रौद्योगिकी से जुड़े पेशेवर लोग सेहत से जुड़ी जानकारियां चाहते हैं और पुरुषों की स्वास्थ्य समस्याओं एवं उपचार के बारे में इंटरनेट से जानकरी इकट्ठी करने में अधिक उत्सुक हैं। कम आय वर्ग के लोगों की सेहत से जुड़ी जानकारियां प्राप्त करने के लिए इंटरनेट पर निर्भरता और विश्वास ज्यादा है।" सर्वे के अनुसार, "इंटरनेट के जरिए स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां पाने वाले 44 प्रतिशत लोग 26 से 35 आयु वर्ग के हैं। 

29 प्रतिशत लोग 18-25 आयु वर्ग के और 36-45 आयु वर्ग के 15 प्रतिशत और 46-55 आयु वर्ग के 12 प्रतिशत लोग हैं। इंटरनेट के जरिए स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां तलाश करने वालों में 80 प्रतिशत पुरुष हैं।" आय वर्ग की बात की जाए तो 25,000 रुपये या इससे कम मासिक आय वाले लोगों द्वारा स्वास्थ्य सूचनाएं एकत्रित करने वालों का प्रतिशत (27) सर्वाधिक है, जबकि एक लाख रुपये मासिक आय वाले मात्र 10 प्रतिशत लोगों ने ही इंटरनेट के जरिए स्वास्थ्य समस्याओं की जानकारी ली। वाया मीडिया हेल्थ के स्वास्थ्य प्रमुख प्रितेश कौल के अनुसार, "इससे यह जाहिर होता है कि स्वास्थ्य पर कम खर्च करने वालों के लिए पहले स्रोत के रूप में इंटरनेट तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। 

ऑनलाइन स्वास्थ्य समस्या का निदान चाहने वाले उपभोक्ताओं के लिए इंटरनेट को अधिक प्रासंगिक बनाने की रणनीति में ये तथ्य काफी उपयोगी साबित हो सकता है।" सर्वे के अनुसार, 53 फीसदी लोगों ने व्यायाम और फिटनेस से जुड़ी, जबकि 48 प्रतिशत लोगों ने स्वास्थ्य बीमा से जुड़ी जानकारियां लीं। सबसे रोचक तथ्य यह है कि 94 प्रतिशत लोगों ने मोबाइल के जरिए स्वास्थ्य समस्याओं के समाधान इंटरनेट पर ढूंढ़े। इस सर्वे में यह भी खुलासा हुआ है कि 90 प्रतिशत लोगों ने इंटरनेट से मिली जानकारियों पर विश्वास जताया है, हालांकि जानकारी की पुष्टि के लिए उन्हें अपने पारिवारिक चिकित्सक से जरूर सलाह ली।