Share:
तेलंगाना में कांग्रेस की सरकार..! NDTV के बाद पार्टी नेताओं ने IB के नाम से किया 'फर्जी' दावा, वोटिंग वाले दिन Fake लेटर वायरल
तेलंगाना में कांग्रेस की सरकार..! NDTV के बाद पार्टी नेताओं ने IB के नाम से किया 'फर्जी' दावा, वोटिंग वाले दिन Fake लेटर वायरल

हैदराबाद: आज यानी गुरुवार (30 नवंबर, 2023) तेलंगाना में हो रहे मतदान से पहले सोशल मीडिया पर ‘इंटेलिजेंस ब्यूरो’ (IB) के नाम से एक लिस्ट वायरल की जा रही है। इस लिस्ट में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत और पूर्ण बहुमत का दावा किया जा रहा है। इस सूची को कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ उनके समर्थक भी अपने X (ट्विटर) हैंडल पर साझा कर रहे हैं। कांफिडेंशियल का ठप्पा लगी इस सूची में तारीख 23 नवंबर, 2023 की अंकित है।

बता दें कि, लिस्ट को बाकायदा प्रेसनोट बताते हुए शेयर किया जा रहा है, जो कि उस लेटर में लिखा भी हुआ है। ऊपर अंग्रेजी के बड़े-बड़े शब्दों में ‘इंटेलिजेंस ब्यूरो’ यानी IB लिखा हुआ है और इसको ओरिजिनल का लुक देने के लिए भारत की ख़ुफ़िया एजेंसी R&AW का आधिकारिक Logo भी लगा हुआ है। नीचे तेलंगाना राज्य विधानसभा चुनाव 2023 लिखा हुआ है। पहले पैराग्राफ में ही ऐलान कर दिया गया है कि कांग्रेस पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत से सत्ता में आ रही है और उसे 44% वोट के साथ 72 सीटें मिलने का अनुमान है।

IB के नाम से वायरल हो रहे इस लेटर के दूसरे पैराग्राफ में भाजपा और AIMIM को वोट कटुआ पार्टी कहा गया है। इन दोनों पार्टियों पर BRS का वोट खा जाने का आरोप लगाया गया है। भाजपा और अन्य दलों को 12 से नीचे सीटें मिलने का दावा किया गया है। लिस्ट में BRS की हार का कारण किसानों का गुस्सा, सत्ता विरोधी लहर और राज्य में व्याप्त भ्र्ष्टाचार बताया गया है। Key Point में यह भी दावा किया गया है कि यह सर्वे को ग्रामीण और शहरी दोनों इलाकों में किया गया है।

इन दावों के नीचे एक टेबल बनाई गई है। तालिका में BRS को 34 से 37, कांग्रेस को 71 से 74, भाजपा को 2 से 4 और अन्य को 6 से 8 सीटें मिलने का अनुमान जाहिर किया गया है। वोट शेयर के हिसाब से BRS को 34 से 37%, कांग्रेस को 43 से 46%, भाजपा को 7 से 9% और अन्य को 8 से 10% मत मिलने का दावा किया गया है। इस तालिका के नीचे ‘Key Point’ नाम से सबहेड दिया गया है, जिसमें इस सर्वे को 7 से 22 नवंबर 2023 के बीच किया गया बताया गया है। दावा किया गया है कि सर्वे के दौरान 17,850 लोगों से मिल कर उनसे उनकी राय जानी गई है।

दिलचस्प बातें तो ये है कि प्रेसनोट लिखे सबहेड में लिखा गया है कि ऊपर कही गई बातें आंतरिक जानकारी के लिए ही हैं। साथ ही पूरे मामले की विस्तृत रिपोर्ट 23 नवंबर को दफ्तर में सबमिट करने का दावा किया गया है। कांग्रेस पदाधिकारी और उसके कार्यकर्ता इस लिस्ट को पूरे आत्मविश्वास के साथ धड़ाधड़ शेयर कर रहे हैं। अपने ‘X’ हैंडल पर खुद को पुडुच्चेरी में कांग्रेस का सोशल मीडिया विभाग का अध्यक्ष बताने वाले कोरकाडू अशोक ने इस लिस्ट को IB की रिपोर्ट बता कर साझा किया है।

 

तेलंगाना के नागार्जुन सागर से कांग्रेस कार्यकर्ता अभिषेक बिक्कू ने यह लिस्ट साझा करने के साथ यह भी दावा किया है कि इसे भारत सरकार के गृह मंत्रालय को सौंपा जा चुका है। राहुल गाँधी की कवर फोटो और वेरिफाइड हैंडल वाली गीता ऐनाला ने भी इस लिस्ट को X हैंडल पर साझा किया है। उन्होंने कैप्शन में BRS का गेम ओवर बताया है। कांग्रेस के एक अन्य कार्यकर्ता तुम्मला नागेश्वर राव ने भी इसे शेयर करते हुए BRS की विदाई का भरोसा जताया है। इसके अलावा कांग्रेस पार्टी से संबंधित कई अन्य लोग भी है, जो इस स्क्रीनशॉट को शेयर करने में लगे हुए हैं। यह शेयरिंग वोटिंग से 1 दिन पहले यानी बुधवार (29 नवंबर) को वायरल की गई है।

हालाँकि, कांग्रेस पदाधिकारियों और उनके समर्थकों द्वारा IB के नाम से शेयर की जा रही ये लिस्ट फेक है। इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) का काम राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित मामलों की सूचनाएँ जमा करना है। एजेंसी इस तरह सियासी या चुनावी मामलों से जुड़े इस प्रकार के एक्जिट पोल नहीं जारी करती है।

 

कांग्रेस ने NDTV के नाम से भी किया था फर्जी दावा:-

बता दें कि, इससे पहले कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने NDTV के नाम से ऐसा ही फर्जी दावा किया था। उन्होंने एक एग्जिट पोल शेयर करते हुए लिखा था कि, NDTV का एग्जिट पोल कहता है कि, तेलंगाना में कांग्रेस प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है। हालाँकि, NDTV ने खुद ही इस झूठ की पोल खोल दी थी, न्यूज़ चैनल ने सोशल मीडिया पर ही इसका जवाब देते हुए कांग्रेस से कहा था कि, उसने ऐसा कोई एग्जिट पोल नहीं किया है। साथ ही NDTV ने कांग्रेस से फेक न्यूज़ न फैलाने का आग्रह भी किया था। 

इससे पहले भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस ने आधिकारिक रूप से एक सर्वे रिपोर्ट जारी करते हुए कहा था कि, 'आजतक' का सर्वे बता रहा है कि, राहुल गांधी लोक्रपियाता के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से काफी आगे निकल गए हैं। ये दावा कांग्रेस ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान किया था। हालाँकि, आजतक ने सोशल मीडिया पर ही जवाब देते हुए कांग्रेस से कहा था कि, ये फर्जी है और उसने ऐसा कोई सर्वे नहीं कराया है। आजतक ने भी कांग्रेस से फेक न्यूज़ न फ़ैलाने का आग्रह किया था। 

बालाघाट के बाद अब कांग्रेस ने की भिंड कलेक्टर को हटाने की मांग, लगाए गड़बड़ी के आरोप

जानिए कौन हैं वीरा राणा? जो होगी MP की दूसरी महिला मुख्य सचिव

मणिपुर के सबसे पुराने उग्रवादी गुट UNLF ने डाले हथियार, गृह मंत्री और सीएम बीरेन सिंह की कोशिशों से हुआ 'शांति समझौता'

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -