CM अखिलेश ने दिखाया सपा बागियों को बाहर का रास्ता

Jan 14 2016 01:04 PM
CM अखिलेश ने दिखाया सपा बागियों को बाहर का रास्ता

लखनऊ : उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी पार्टी सपा के विरोधियों को लेकर सख्ती अपनाई है। उन्होंने सपा के इन बागियों को बाहर का रास्ता दिखाने का निर्णय लिया है। जिला पंचायत अध्यक्ष पद हेतु सीतापुर, शाहजहांपुर, फतेहपुर, मिर्जापुर और श्रावस्ती में सपा के विभिन्न नेताओं और पदाधिकारियों द्वारा घोषित किए गए प्रत्याशियों द्वारा विरोध भी किया गया था। इन प्रत्याशियों का विरोध करने वाले नेताओं और विधायकों के विरूद्ध कार्रवाई की गई।

इन नेताओं को पार्टी से निलंबित कर दिया गया। इन विधायकों और नेताओं के विरूद्ध जांच हेतु समिति का गठन भी किया गया। सीतापुर के विधायक महेंद्र सिंह, झीन बाबू, अनूप गुप्ता, राधेश्याम जायसवाल और मनीष रावत को विधानमण्डल के ही साथ पार्टी से निलंबित कर दिया गया।

उनके विरूद्ध जांच हेतु एक समिति गठित की गई। नेताओं पर कार्रवाई करने के बाद सीतापुर जिला कार्यकारिणी भंग हो गई। इस कार्रवाकरिणी के नेताओं और अन्य नेताओं पर मुख्यमंत्री अखिलेश ने कार्रवाई की। इन नेताओं में शाहजहांपुर के पूर्व सांसद मिथिलेश कुमार, फतेहपुर के पूर्व विधायक केके सिंह, पूर्व राज्यमंत्री अंचल सिंह, जिला अध्यक्ष समरजीत सिंह, पूर्व जिला अध्यक्ष रामशरण यादव, पूर्व महासचिव ओमप्रकाश, मिर्जापुर के जिला पंचायत सदस्य पंचदेव सिंह उर्फ नान्हक सिंह, भोलेनाथ पटेल और श्रावस्ती के जिला पंचायत सदस्य राम अभिलाख यादव का नाम शामिल है। इन नेताओं को 6 वर्ष के लिए बर्खास्त किया गया है। उल्लेखनीय है कि सीएम अखिलेश का यह निर्णय तब आया है जब उत्तरप्रदेश में वर्ष 2017 में चुनाव होने हैं।