चित्रकूट- मोहनलाल पटेल हत्याकांड में पुलिस का खुलासा

इलाहाबाद- चित्रकूट जिले में लगभग दो सप्ताह पहले हुई मोहनलाल पटेल की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और उन्हें जेल भेज दिया गया है. पटेल की हत्या उनके दोस्तों ने की थी और लाश को पानी में फेक दिया था. उन्होंने पहले तो डकैतों द्वारा पटेल के अपहरण की कहानी रची थी लेकिन पुलिस के सामने उनका झूठ ज्यादा दिन नहीं चल सका.

उल्लेखनीय है कि मोहनलाल पटेल चित्रकूट के खरोद गांव के रहने वाले थे और लेबर ठेकेदारी का काम करते थे. लगभग दो सप्ताह पहले वह इलाहाबाद के करछना इलाके से अचानक ही लापता हो गए थे, उनका कही पता नहीं चल रहा था. उनके दोस्त रामनरेश ने परिजनों को कहा था कि मोहन का अपहरण हो गया है और डकैतों ने 6 लाख की फिरौती मांगी है. परिजनों ने पुलिस में मामला दर्ज कराया था. पुलिस द्वारा शुरुआती जाँच में डकैतों का कोई सुराग नहीं मिला जिसके बाद पुलिस ने रामनरेश और उसके दोस्तों को रिमांड पर लिया था. सभी दोस्तों से अगल-अगल पूछताछ में सभी ने पुलिस को अलग-अलग कहानी बताई जिससे मामले का खुलासा हो गया.

बता दे कि मोहनलाल का रामनरेश और राजकरन से पैसे के लेनदेन को लेकर 28 नवंबर को विवाद हो गया था. रामनरेश ने दोस्तों के साथ मिलकर मोहनलाल की हत्या कर दी थी और शव को वाल्मीकि नदी में फेक दिया था.

छात्र ने छात्रा को गोली मारकर की खुदखुशी की कोशिश

आश्रम में बंधक बनाकर रखा गया नाबालिग लड़कियों को छुड़ाया

कोलकाता से लापता झारखण्ड की युवती का शव बरामद

 

Most Popular

- Sponsored Advert -