अफ्रीका से लाखों की संख्या में इम्पोर्ट होते है गधे

अक्सर लोग काम पड़ने पर या ज़रूरत के लिए जानवरों को खरीदते हैं। जैसे अगर वो इंसान हैं तो गाय या भैंस खरीदेगा जिससे उसका काम हो सके। इससे ज्यादा लोग और क्या खरीद सकते हैं। लेकिन चीन में लोग गाय या भैंस नही बल्कि गधे खरीद रहे हैं। जी हाँ,सुन कर अजीब तो लग रहा है और ये भी सोच रहे होंगे आप की वो लोग इन गधो का करते क्या है। हम भी सोच रहे थे। लेकिन अब आपको भी बताते हैं आखिर चीन के लोग ऐसा कर क्यों रहे हैं।

दअरसल ,चीन के लोग गधों को भारी तादाद में खरीद रहे हैं। इतना ही नही, वो लोग गधों को अफ्रीका से इम्पोर्ट भी कर रहे हैं, थोड़े बहुत भी नही लाखों की संख्या में ख़रीदे जाते हैं। आपको बता दे कि चीन को हर साल 40 लाख गधों की जरूरत पड़ती है। इतने गधे वहां ना मिलने से ही अफ्रीका से इम्पोर्ट किया जाते हैं। ये इम्पोर्ट अधिकतर अफ्रीका के नाइजर और बुर्कीना फासो से होता है।

इन गधो का इस्तेमाल चीन में महँगी दवाई बनाने के लिए होता है। इनकी खाल से पारंपरिक दवाई ईजिओ बनाई जाती है,जिसे टीसीएम कहा जाता है। गधो की खाल से गिलेटिन नाम का पदार्थ निकलता है जिसका इस्तेमाल किया जाता है। चीन में इन दवाई की भारी मांग है, इसी के चलते हर साल करीब 5 हजार टन टीसीएम बनाई जाती है।

Video :किस तरह बनते है लड़के वैलेंटाइन डे पर बेवकूफ

मैसूर है सबसे साफ़ शहर, लेकिन ये तस्वीर तो कुछ और ही बोलती है

ये कंपनी दे रही है शराब और आइसक्रीम का कॉकटेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -