Share:
मणिपुर हिंसा के पीछे मिला चीन कनेक्शन! सरकार ने पकड़ी ड्रैगन की नापाक चाल
मणिपुर हिंसा के पीछे मिला चीन कनेक्शन! सरकार ने पकड़ी ड्रैगन की नापाक चाल

इम्फाल: अरुणाचल प्रदेश के बाद अब चीन की नापाक नजर अब एक और पूर्वोत्तर प्रदेश पर है. ये प्रदेश है मणिपुर, जहां हिंसा कराकर चीन भारत के खिलाफ षड्यंत्र रच रहा है. 3 मई से मणिपुर में हिंसा भड़की हुई है. स्थिति बिगड़ी हुई हैं और लोग भयभीत हैं. हिंसा में अब तक लगभग 80 लोग मारे गए हैं. फिलहाल, तो हिंसा प्रभावित इलाकों में शांति है, मगर 3 सप्ताह से राज्य में सब कुछ ठप सा पड़ा है. अब ये जानकारी सामने आ रही है कि, पड़ोसी मुल्क चीन, मणिपुर में हिंसा भड़का रहा है। 

बता दें कि, बीते एक माह से हिंसा की आग में झुलस रहे मणिपुर में अब चीन की एंट्री हो गई है. रिपोर्ट्स के अनुसार, चीन म्यांमार के रास्ते मणिपुर में हथियार भेज रहा है, ताकि प्रदेश में हिंसा और भड़के और लोग एक दूसरे के शत्रु बन जाए. ऐसी नापाक चालें, चीन पाकिस्तान के साथ मिलकर कश्मीर में भी चल चुका है और हिंसा भड़का चुका है. चीन लोगों को लड़वाकर मणिपुर को भारत से अलग करना चाहता है. वर्ष 2021 में चीन ने मणिपुर हमले की जिम्मेदारी लेने वाले उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) को फंडिंग उपलब्ध कराई थी.

मणिपुर में 29 मई को अरेस्ट हमलावरों के पास से भारी मात्रा में हथियार मिले थे. हैरान करने वाली बात यह है कि ये हथियार चीन में बने थे. इन लोगों के पास से चाइनीज हैंड ग्रेनेड एक इंसास राइफल और डेटोनेटर सहित कई गोला बारूद मिले थे. यह सभी इंफाल के सिटी कन्वेंशन सेंटर इलाके में एक कार में सवार होकर जा रहे थे. इस मामले के बाद यह बात और पुख्ता हो गई कि चीन म्यांमार के जरिए मणिपुर में हथियार पहुंचा रहा है.

सोशल मीडिया के जरिए भी जनता को भड़का रहा चीन:-

बता दें कि, चीन केवल हथियारों से ही नहीं, बल्कि सोशल मीडिया के माध्यम से भी मणिपुर के लोगों को लड़वा रहा है. चीन के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वायबो पर भारत के खिलाफ वीडियो साझा किए जा रहे हैं. साथ ही #manipur is not india और #china stands with manipur हैशटैग चलाकर वह मणिपुर के लोगों को भड़काया जा रहा है. चीन सोशल मीडिया पर झूठा दावा भी कर रहा है कि मणिपुर के लोग भारत की सेना से आजादी की जंग लड़ रहे हैं.

इस तरह, चीन ट्विटर, व्हॉट्सएप और फेसबुक के माध्यम से मणिपुर में अफवाह फैलाने में लगा हुआ है. चीन की इस चाल को मणिपुर सरकार ने भी भांप लिया है. इसको लेकर मणिपुर सरकार ने अब लोगों को चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि सोशल मीडिया और इंटरनेट के जरिए गलत जानकारी, फर्जी तस्वीरें और वीडियोज़ शेयर करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. सरकार का कहना है कि ऐसे लोग फेक न्यूज़ के जरिए राज्य की हालत बिगाड़ने का काम कर रहे हैं.

ज्ञानवापी केस में मुस्लिम पक्ष को HC से बड़ा झटका, हिंदू पक्ष की नियमित पूजा वाली याचिका पर होगी सुनवाई

'मेडल गंगा में बहाने से फांसी नहीं मिलेगी', बृजभूषण सिंह का बड़ा बयान

'हम न्याय दिलाने के लिए अपने सिर कटवाने के लिए तैयार हैं', पहलवानों के समर्थन में आया किसान संगठन

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -