पुणे पोर्शे कार हादसे में हुई छोटा राजन की एंट्री, हुआ ये चौंकाने वाला खुलासा
पुणे पोर्शे कार हादसे में हुई छोटा राजन की एंट्री, हुआ ये चौंकाने वाला खुलासा
Share:

पुणे: पुणे के पोर्शे कार दुर्घटना को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। नाबालिग अपराधी वेदांत अग्रवाल आज मतलब बुधवार को जुवेनाइल कोर्ट में पेश हो सकता है। वहीं, अब इस मामले में अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के नाम की भी एंट्री हो गई है। मामले में मुख्य अपराधी वेदांत अग्रवाल (17 साल) के परिवार के अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन से संबंध होने की खबर सामने आई है। अग्रवाल परिवार के मुखिया सुरेंद्र अग्रवाल जो कि नाबालिग अपराधी के दादा हैं, उनका अपने भाई के साथ संपत्ति विवाद चल रहा था। इसी विवाद के निपटारे के लिए सुरेंद्र अग्रवाल ने वर्ष 2007 एवं 2008 के दरम्यान बैंकॉक में जाकर छोटा राजन से मुलाकात की थी।

तत्पश्चात, अजय भोसले नाम के एक व्यक्ति के क़त्ल का प्रयास किया गया था। इस मामले में सुरेंद्र अग्रवाल पर भी FIR दर्ज थी। उस वक़्त इस मामले में भी पुणे पुलिस सवालों के घेरे में थी, क्योंकि आम तौर पर अंडरवर्ल्ड से जुड़े मामलों में महाराष्ट्र पुलिस मकोका के तहत FIR दर्ज करती है। किन्तु इस मामले में IPC के तहत सिर्फ सामान्य धाराएं लगाई गईं। सुरेंद्र अग्रवाल की चार्जशीट फाइल होने तक तो गिरफ्तारी भी नहीं हुई। बाद में जब छोटा राजन की गिरफ्तारी के पश्चात् उसके सभी मामले CBI को ट्रांसफर किए गए, तो अग्रवाल से जुड़ा ये केस भी उसमें सम्मिलित था। 18 मई को जब पुणे में हुए रोडरेज मामले के पश्चात् नाबालिग आरोपी को VIP ट्रीटमेंट मिला, तो उसके पश्चात् कई कड़ियां सामने आने लगीं। छोटा राजन से जब अग्रवाल परिवार के संबंधों का पता चला तो यह साफ हो गया कि इस परिवार की पकड़ केवल पुणे पुलिस तक ही नहीं, बल्कि अंडरवर्ल्ड तक है। उधर, पुणे कलेक्टर सुहास दिवसे ने हादसे के पश्चात् मचे बवाल के बीच उन दोनों पब को बंद करने का आदेश जारी कर दिया है।

18 मई को पुणे में 17 वर्षीय नाबालिग वेदांत अग्रवाल ने शराब के नशे में धुत होकर हाई स्पीड पोर्शे गाड़ी से 2 लोगों की जान ले ली। इस मामले में नाबालिग को पकड़ लिया गया तथा 15 घंटे के भीतर ही उसे जमानत भी दे दी गई। फिर अदालत ने उसे 300 शब्दों का रोड सेफ्टी पर एक निबंध लिखने को कहा। मामला तभी से तूल पकड़े हुए है। मृतका अश्विनी कोष्ठा एवं अनीश अवधिया के घर वाले निरंतर न्याय की मांग कर रहे हैं। मामले में फिलहाल पुलिस ने नाबालिग के पिता एवं जाने माने बिल्डर विशाल अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है। इसके अतिरिक्त नाबालिग को शराब परोसने के आरोप में कोसी रेस्टोरेंट मालिक नमन प्रल्हाद भूतड़ा एवं प्रबंधक सचिन अशोक काटकर, होटल ब्लैक के मैनेजर संदीप रमेश सांगले एवं बार काउंटर मैनेजर जयेश सतीश बोनकर को भी गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में कुल 5 गिरफ्तारियां हुई हैं।

भोजपुरी सुपरस्टार पवन सिंह को BJP ने पार्टी से किया बर्खास्त, जानिए क्यों?

कांग्रेस ने अपने बागी उम्मीदवार अक्षय कांति बम पर रखा 5000 रुपए का इनाम, जानिए पूरा मामला

'पीने की लिमिट तय करें...', पुणे कोर्ट ने दिए बार और पब मालिकों को निर्देश

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -