580 साल बाद लगने जा रहा ऐसा चंद्र ग्रहण, जानिए क्यों है इतना खास?

चंद्र ग्रहण-सूर्य ग्रहण बेहद महत्वपूर्ण खगोलीय घटनाएं होती हैं तथा यह ज्‍योतिष के लिहाज से भी यह अहम होते हैं। इस वर्ष का अंतिम चंद्र ग्रहण 19 नवंबर 2021 शुक्रवार को लगने जा रहा है। वर्ष का यह तीसरा ग्रहण तथा दूसरा चंद्र ग्रहण कई मायनों में विशेष रहने वाला है। साथ-साथ इस चंद्र ग्रहण के ठीक 15 दिन पश्चात् 4 दिसंबर 2021 को एक सूर्य ग्रहण भी लगेगा। 

580 साल बाद लगेगा ऐसा ग्रहण:- 
19 नवंबर का चंद्र ग्रहण काफी विशेष है क्‍योंकि ऐसा चंद्र ग्रहण 580 वर्ष के पश्चात् लगने जा रहा है। यह चंद्र ग्रहण बीते 580 वर्ष का सबसे लंबा आंशिक चंद्र ग्रहण होगा। इस चंद्र ग्रहण की अवधि लगभग साढ़े 3 घंटे की रहेगी। भारत में यह चंद्र ग्रहण दोपहर को 12:48 बजे से 04:17 मिनट तक रहेगा। हालांकि यह आंशिक चंद्र ग्रहण देश में सिर्फ असम एवं अरुणाचल प्रदेश में ही नजर आएगा। इससे पूर्व इतना लंबा आंशिक चंद्र ग्रहण 1440 में लगा था, वहीं 19 नवंबर 2021 के पश्चात् अब 8 फरवरी 2669 में इतना लंबा चंद्र ग्रहण लगेगा। मतलब कि 648 वर्ष पश्चात् ऐसा ग्रहण लगेगा। चंद्र ग्रहण की अवधि अधिक होने की वजह से लोग अधिक देर तक इस अद्भुत खगोलीय घटना का अनुभव ले पाएंगे। 

इसलिए रहेगा इतना लंबा चंद्र ग्रहण:- 
इतना लंबा चंद्र ग्रहण होने के पीछे खगोलविदों का मानना है कि धरती से चंद्रमा की दूरी अधिक होने की वजह से 19 नवंबर को लगने वाले चंद्र ग्रहण की अवधि अधिक रहेगी। अगर धरती एवं चंद्रमा के बीच की दूरी कम रहती है तो चंद्र ग्रहण की अवधि भी कम हो जाती है। 

आप नहीं जानते होंगे बाप्पा से जुड़ी ये रोचक बातें

शिव-हरी को समर्पित है वैकुंठ चतुर्दशी, जानिए इससे जुड़ी कथा

वैकुंठ चतुर्दशी आज, जानिए इसका शुभ मुहूर्त

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -