ICICI बैंक की सीईओ चंदा कोचर का भावुक पत्र अपनी बेटी के नाम
ICICI बैंक की सीईओ चंदा कोचर का भावुक पत्र अपनी बेटी के नाम
Share:

मुंबई : पहले अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन द्वारा अपने बेटे को लिखा गया पत्र, इसके बाद जवाहर लाल नेहरु द्वारा अपनी बेटी इंदिरा गांधी को लिखा गया खत भावुक और जन समुदाय के लिए प्रेरक होते थे, लेकिन आज के जमाने का जीता-जागता उदाहरण है, आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ चंदा कोचर द्वारा अपनी बेटी को लिखा गया जीवन के सीखों से प्रेरित और ममतामयी पत्र।

चंदा कोचर कॉरपोरेट वर्ल्ड के साथ-साथ अपने पारिवारिक जीवन में भी उतनी ही रमी हुई और उतनी ही कुशल है। उन्होने अपनी बेटी आरती को एक पत्र के जरिए ही जीवन भर की सीख देदी। इस पत्र में मां के प्रेम के साथ-साथ उन्होने अपने जीवन के खट्टे-मीठे अनुभवों से भी बेटी को रुबरु कराया है।

कैसे उन्होने अपना बचपन बिताया, कैसे वो साहसी बनी और कैसे उन्होने जीवन के हर लक्ष्य को अपनी कड़ी मेहनत से पाया। इस खत में उन्होने उन गलतियों का भी जिक्र किया है, जो उनकी मां के होने के प्रति थी और काम की व्यस्तता के कारण वो नहीं निभा पाई। खत में कोचर ने बेटी को सफलता के कुछ मंत्र भी बताए हैं।

चंदा का यह पत्र सुधा मेनन की संकलित किताब अपनी बेटियों के लिए प्रख्यात माता-पिता से विरासत पत्र में छपा है। इस पत्र में चंदा कोचर ने बेटी आरती पर नाज होने की बात कही है। चंदा ने अपने खत में लिखा कि बच्चे माता-पिता को देखकर ही सीखते है।

उन्हीं से मिले अनुशासन जीवन भर उनके काम आया। बेटी की कामयाबी से प्रफुल्लित होती हुई चंदा ने लिका कि तुम्हारी कामयाबी ने मुझे अपने पुराने दिनों की याद दिला दी। चंदा ने कहा है कि तुम में भी वो सारी खूबियां हैं जो मुझे मेरे परिवार से विरासत में मिलीं थीं।

मुझे पता है बच्चे मां बाप को ही देखकर सीखते हैं। तुम्हारे नाना-नानी ने हम दोनों बहनों और भाई की एक जैसी परवरिश की और सभी को एक जैसे संस्कार दिए हैं।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -