लंदन में मना रहे थे पिकनीक, मिला जीवन भर का दर्द

May 06 2015 03:58 PM
लंदन में मना रहे थे पिकनीक, मिला जीवन भर का दर्द

लंदन : विदेश की सैर पर निकले एक भारतीय मूल के इंजीनियर को लंदन घूमना इतना महंगा पड़ गया कि उसे अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। इस इंजीनियर को कस्टडी में रखे जाने के दौरान वह बीमार हो गया और पर्याप्त इलाज नहीं मिलने के कारण उसकी मौत हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार गुजरात राज्य के आणंद जिले के निवासी पिनाकिन चिमनभाई पटेल ब्रिटेन गए थे। प्रवासी वीज़ा पर वे अपनी पत्नी के साथ ब्रिटेन की सैर पर पहुंचे, इस दौरान ब्रिटेन की पुलिस ने शक के आधार पर उन्हें पकड़ लिया और चाल्र्स वुड इमिग्रेसन रिमूवल सेंटर में जेल में रखा।

चिमनभाई को श्वास की परेशानी थी। जब उन्हें पकड़ा गया तो उन्हें हार्ट अटैक आ गया। पत्नी भाविशा ने सभी से मदद की अपील की मगर चिमनभाई का समय पर उपचार नहीं करवाया गया। जब चिमनभाई को उपचार नहीं मिला तो उनकी मौत हो गई। चिमनभाई का लंदन में ही अंतिम संस्कार कर दिया गया। पीडि़त के परिवार को जानकारी मिली तो उसने मोदी सरकार से मदद की अपील की, जिसके बाद भाविका को जेल से छुड़वाया गया।