CBI ने कहा इंद्राणी के जांच सैंपल सुरक्षित रखे राज्य सरकार

Oct 09 2015 11:43 PM
CBI ने कहा इंद्राणी के जांच सैंपल सुरक्षित रखे राज्य सरकार

मुंबई : केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने शुक्रवार को महाराष्ट्र सरकार को पत्र लिखकर कहा है कि शीना बोरा हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के जेजे अस्पताल में इलाज के दौरान जांच के लिए जो सैंपल लिए गए थे उसे सुरक्षित रखा जाए। मालूम हो की इंद्राणी को 2 अक्तूबर को बेहोशी की हालत में उपचार के लिए जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

CBI अधिकारियों के अनुसार, राज्य सरकार से सैंपल को सुरक्षित रखने को कहा गया है और उनसे उस जांच रिपोर्ट की मांग की गई है जिसमें इंद्राणी के अस्पताल में भर्ती होने के बाद तमाम कोणों से जांच की गई। CBI सूत्रों के हवाले से, राज्य सरकार से कैदियों की जांच रिपोर्ट के आधार पर क्या कार्रवाई की गई है उसकी भी मांग की गई है। वही सूत्र बताते है कि शीना बोरा मर्डर केस की मुख्य आरोपी इंद्राणी की मेडिकल जांच रिपोर्ट को लेकर विवाद खड़ा हो गया था।

इसलिए CBI के अधिकारियों ने निर्णय लिया है कि इंद्राणी की मेडिकल जांच के लिए गैस्ट्रिक के अलावा यूरिन और खून के जो सैंपल लिए गए थे उसे सुरक्षित रखा जाए ताकि उनकी विवादास्पद मेडिकल रिपोर्ट की भी जांच की जा सके। जेजे अस्पताल में इंद्राणी के भर्ती होने के बाद अस्पताल के डीन डॉक्टर टीपी लहाणे ने दावा किया था कि इंद्राणी ने दवा की ओवरडोज ली होगी जिससे वह बेहोशी की हालत में है। रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ था कि इंद्राणी के यूरिन और खून के सैंपल में औषध की मात्रा मिली थी।

वहीं, कालीना के फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट पोजेटिव थी। एक और विवाद सामने आया था कि राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मेडिकल रिपोर्ट समेत पूरे मामले की जांच आईजी स्तर के अधिकारी से कराने का आदेश दिया था। इधर, CBI ने शीना हत्या मामले की जांच को आगे बढ़ाया है। सूत्रों के अनुसार CBI के अधिकारी शुक्रवार को रायगड जिले के पेण में उस स्थान का निरीक्षण किया जहां हत्या के बाद शीना के शव को वर्ष 2012 में ठिकाने लगाया गया था।