ब्रिक्स खोलेगा क्रेडिट रेंटिंग फर्म

नई दिल्ली: 5 विकासशील देशों का समूह ‘ब्रिक्स’ बैंक के बाद क्रेडिट रेंटिंग फर्म खोल सकता है. इसका मकसद फाइनेंस क्षेत्र में पश्चिमी देशों का एकाधिकार खत्म करना है|

‘क्रेडिट रेटिंग एजेंसी फार इमर्जिंग मार्केट’ के नाम से भारत में अक्टूबर में ब्रिक्स समिट होने की उम्मीद है. ब्रिक्स के एक अधिकारी के अनुसार ब्रिक्स देशों– भारत, रूस, ब्राजील, चीन और दक्षिण अफ्रीका के बीच इस विषय पर बातचीत पहले से चल रही है|

प्रस्तावित समिट में भारत में एनडीबी इंस्टिट्यूट बनाने के प्रस्ताव पर भी बात होगी. यह संस्थान न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) के लिए रिसर्च और प्रोजेक्ट की तलाश करेगा. इस बैंक की शुरुआत 100 बिलियन डालर की पूँजी के साथ हुई है. पश्चिमी रेंटिंग एजेंसियों पर विकसित देशों की तरफ झुकाव का आरोप वित्तीय रूप से उभरते देशों ने लगाया है. इससे चीन और रूस सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं|

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -