पुण्यतिथि विशेष : बांग्लादेश में जन्मे, हिन्दुस्तान में चमके, 'क्रांतिकारी विचारों के जनक' थे विपिनचंद्र पाल

May 20 2019 09:58 AM
पुण्यतिथि विशेष : बांग्लादेश में जन्मे, हिन्दुस्तान में चमके, 'क्रांतिकारी विचारों के जनक' थे विपिनचंद्र पाल

बिपिन चंद्र पाल का नाम भारतीय इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज है. वे एक भारतीय क्रांतिकारी थे और भारतीय स्वाधीनता आंदोलन की रूपरेखा तैयार करने में भी उनकी प्रमुख भूमिका रही थी. जबकि वे लाल-बाल-पाल की तिकड़ी में से भी एक थे. विपिनचंद्र पाल राष्ट्रवादी नेता होने के साथ-साथ ही एक शिक्षक, पत्रकार, लेखक व वक्ता भी थे और उन्हें भारत में क्रांतिकारी विचारों के जनक के नाम से भी पहचाना जाता है. आज विपिनचंद्र पाल के पुण्यतिथि है, तो आइए जानते है उनसे जुडी कुछ खास बातें...

शिक्षा...

कलकत्ता के प्रेसिडेंसी कॉलेज में उन्हें भर्ती कराया गया था लेकिन वह अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर सके और उन्होंने एक हेडमास्टर के रूप में अपना करियर शुरू कर दिया. बाद के सालों में, वह कलकत्ता के सार्वजनिक पुस्तकालय में एक लाइब्रेरियन के रूप में काम करने लगे थे. 

साहित्य में योगदान...

1898 में वह तुलनात्मक विचारधारा का अध्ययन करने के लिए इंग्लैंड के लिए रवाना हो गए थे. लेकिन एक वर्ष के बाद वे वहां से भारत लौट आए थे और तब से उन्होंने स्थानीय भारतीयों के बीच स्वराज के विचार की भावना का प्रचार करना प्रारंभ कर दिया था.

स्वतंत्रता आंदोलन में भूमिका...

बिपिनचंद्र पाल, ‘लाल-बाल-पाल’ के रूप में प्रसिद्ध तिकड़ी देशभक्तों के रूप में प्रसिद्ध थे और ये तीनों ने बंगाल के 1905 के विभाजन में ब्रिटिश औपनिवेशिक नीति के खिलाफ पहला लोकप्रिय उदय शुरू करने के लिए भी जिम्मेदार बताए जाते हैं. ख़ास बात यह है कि महात्मा गांधी के राजनीति में प्रवेश से पहले आये थे और बिपिनचंद्र पा ‘वंदे मातरम’ पत्रिका के संस्थापक भी थे.

मृत्यु...

विपिनचंद्र पाल ने अपने जीवन के अंतिम वर्षों के दौरान स्वयं को कांग्रेस से अलग कर लिया था और एक अकेले जीवन का नेतृत्व फिर उन्होंने किया था. आज ही के दिन साल 1932 में उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था.

बदरीशपुरी के विकास के लिए पीएम मोदी ने मांगा जनता से सहयोग

 

 

एग्जिट पोल के दावों को ख़ारिज कर रहा सट्टा बाजार, भाजपा को नहीं मिलेगा बहुमत

लोकसभा चुनाव एग्जिट पोल: धर्मेंद्र ने दी पीएम मोदी को बधाई, कहा- फ़क़ीर बादशाह

मुझे एग्जिट पोल की गॉसिप पर भरोसा नहीं, यह सिर्फ ईवीएम में गड़बड़ी का गेम प्लान है : ममता