Share:
स्फटिक की माला धारण करने के फायदे
स्फटिक की माला धारण करने के फायदे

स्फटिक निर्मल, रंगहीन, पारदर्शी, और शीत प्रभाव रखने वाला उप रत्न है. आयुर्वेद में स्फटिक का प्रयोग सभी प्रकार के ज्वर, पित्त प्रकोप, शारीरिक दुर्बलता एवं रक्त विकारों को दूर करने के लिए शहद या गौ मूत्र के साथ औषधि के रूप में किया जाता है.

1-ज्योतिष की दृष्टि से स्फटिक को पूर्ण विधि-विधान और श्रद्धाभाव के साथ गले में हार के रूप में धारण करने से समस्त कार्यों में सफलता मिलती है. इसके साथ ही हर तरह का विवाद और समस्या के अंत के साथ किसी भी तरह के शत्रु भय भी नहीं रहता है.

2-किसी महत्वपूर्ण कार्य के लिए जाते समय यदि माता लक्ष्मी जी की पूजा-अर्चना करने के बाद स्फटिक की माला धारण करके जाया जाए तो वह कार्य आसानी से पूरा हो सकता है और उस कार्य में जरूर सफलता मिलेगी.

3-यदि घर परिवार में आर्थिक संकट चल रहा हो तो स्फटिक रत्न को गंगा जल से पवित्र करे के बाद मंत्रों से शुद्ध करके पूजा स्थल पर रखना शुभ माना जाता है.

4-व्यापारिक प्रतिष्ठानों में स्फटिक की माला धन की तिजोरी में रखने से व्यापार में लाभ होता है. यह उपाय करते समय इतना अवश्य ध्यान रखें कि आपकी तिजोरी का दरवाजा उत्तर दिशा की ओर ही खुले.

दोपहर से पहले करे शिवलिंग की पूजा

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -