बच्चा रोता रहा, मगर खामोश बनी रही मां

May 02 2015 04:36 PM
बच्चा रोता रहा, मगर खामोश बनी रही मां

नीमकाथाना : भूदोली रोड़ क्षेत्र के हीरानगर क्षेत्र में एक परिवार में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक विवाहिता ने अपने बच्चे के घर में रहते ही फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मिली जानकारी के अनुसार प्रेमलता पत्नी नवलकिशोर 30 वर्ष मेहमानों के आने पर घर में चाय बना रही थी। रात्रि में जब घर में सभी सो रहे थे तभी महिला अपने कमरे में गई। और दरवाजा बंद हो गया।

इसके कुछ देर बाद सभी को 12 वर्ष के बच्चे के रोने की आवाज आई। बच्चा अपने दादा सहीराम के पास सो रहा था। सहीराम ने अपनी बहू प्रेमलता को आवाज़ दी लेकिन उसके कमरे से कोई आवाज़ नहीं आई। जिसके बाद अन्य परिजन उठ गए। जब सभी प्रेमलता के कमरे की ओर गए और उसे आवाज़ दी तो भी कोई आवाज़ नहीं आई। इसके बाद परिजन ने कमरे का दवाजा खोला तो सभी अंदर का दृश्य देखकर दंग रह गए।

इस दौरान विवाहिता को अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजन के सुपुर्द कर दिया गया। मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच प्रारंभ कर दी है। फिलहाल पुलिस को आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चला है। पुलिस मामले के विभिन्न पहलूओं पर जांच कर रही है दूसरी ओर पुलिस परिजन पर भी संदेह के आधार पर पूछताछ कर रही है।