आजम के गढ़ में 800 ने कबूला इस्लाम धर्म

Apr 15 2015 12:34 AM
आजम के गढ़ में 800 ने कबूला इस्लाम धर्म
style="color: rgb(0, 0, 0); font-family: Arial, Tahoma, Verdana; font-size: 14px; line-height: 20px; text-align: justify;">उत्तर प्रदेश / रामपुर : उत्तर प्रदेश के ताकतवर नेता माने जाने वाले आजम खां के गढ़ में 800 से अधिक लोगों द्वारा इस्लाम धर्म अपनाने के समाचार मिले है। बताया गया है कि इस्लाम धर्म कबूलने वाले लोग वाल्मीकि समाज से संबंध रखते है और धर्म परिवर्तन करने के पीछे मकानों को बचाना था। बताया गया है कि वाल्मीकि समाज के इन लोगों ने कहा था कि अपने घर बचाने के लिये उन्होंने इस्लाम धर्म अपनाने का निर्णय लिया है क्योंकि यही एक मात्र आखिरी रास्ता उनके लिये बचा है।
 
बताया गया है कि ये लोग जिस तोपखाना इलाके में रहते है, वहां बनने वाले शाॅपिंग माॅल तक जाने वाले मार्ग को चैड़ा करने के लिये मकानों को गिराना है। इसके लिये नगर निगम की ओर से लोगों के घरों पर निशान भी लगा दिये गये थे। लोगों का कहना है कि मुस्लिम लोगों के बस्तियों में सड़के काफी कम चौड़ी होती है लेकिन वहां कभी भी अतिक्रमण नहीं हटाया जाता है, यदि हम भी मुस्लिम धर्म अपना ले तो हो सकता है कि उनके घर भी बच जाये। 
 
बताया गया है कि नगर  निगम के ड्राफ्ट्समैन सिब्ते नबी की उपस्थिति में लाल निशान लगाये गये थे और उस वक्त उसने कहा था कि यदि वे लोग इस्लाम धर्म कबूल कर लेते है तो उनके मकान नहीं गिराये जायेंगे। हालांकि यह बात अलग है कि मुस्लिम धर्म अपनाने की घोषणा करने के बाद भी इन लोगों को कलमा पढ़ाने के लिये किसी मौलाना ने अपनी स्वीकृति नहीं दी।