ATM की कंगाली पर जेटली ने दी बेतुकी सफाई

Apr 17 2018 01:22 PM
ATM की कंगाली पर जेटली ने दी बेतुकी सफाई

दिल्ली : केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रसाद शुक्ल ने कहा है कि जिन राज्यों में कैश की किल्लत है, वहां दूसरे राज्यों के मुकाबले कम नोट पहुंचे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार जरूरत के मुताबिक राज्यों के बीच नोटों का उचित वितरण करने की दिशा में कदम उठा रही है. वहीं, वित्त मंत्री वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुछ राज्यों में पैदा हुई कैश की किल्लत का कारण वहां अचानक कैश की मांग बढ़ना बताया है. उन्होंने कहा कि देश में जरूरत से ज्यादा नोट सर्कुलेशन में हैं और बैंकों में भी पर्याप्त नोट उपलब्ध हैं. वित्त मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि सरकार ने देश में करंसी के हालात की समीक्षा की है और आने वाले तीन दिनों में ठीक हो जाएगा.

आपको बता दें कि देश के कई राज्यों में कैश की किल्लत की खबरें आई हैं. कई छोटे शहरों में एटीएम खाली हैं और बाहर 'नो कैश' का बोर्ड लगा है. उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार, गुजरात, झारखंड और मध्यप्रदेश के शहरी और ग्रामीण इलाकों में एटीएम में कैश न होने की शिकायत आ रही हैं. कुछ लोगों का कहना है कि उनके इलाके में नोटबंदी जैसे हालात दिखने लगे हैं. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कई राज्यों में हुए कैश संकट से निपटने के लिए कमिटी बनाई है.

शुक्ल ने कहा, 'अभी हमारे पास 1 लाख 25 हजार करोड़ रुपये की कैश करंंसी है. कुछ राज्यों के पास कम करंसी है, जबकि अन्य राज्यों के पास ज्यादा. सरकार ने राज्य स्तर पर समिति गठित की है. वहीं, आरबीआई ने भी नोटों को एक राज्य से दूसरे राज्य में भेजने के लिए कमिटी गठित की है.' वित्त राज्य मंत्री ने भरोसा दिलाया कि जिन राज्यों में नोटों को कमी पड़ रही है, वहां तीन दिनों में नोटों की नई खेप पहुंचा दी जाएगी.

अच्छे दिन: देशभर में कैशलेस हुए ATM

एटीएम हुए केश लेस, जनता परेशान

शहर के ज्यादातर एटीएम में रुपये नहीं

 

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App