वैश्विक अर्थव्यवस्था का अगला विकल्प भारत : वित्त मंत्री

वैश्विक अर्थव्यवस्था का अगला विकल्प भारत : वित्त मंत्री

हाल ही में भारत के केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने वैश्विक आर्थिक वृद्धि की ग्रोथ को देखते हुए यह कहा है कि भारत की अर्थव्यवस्था बहुत ही मजबूत बनी हुई है. साथ ही उन्होंने चीन की अर्थव्यवस्था की मंदी चाल को ध्यान में रखते हुए यह कहा है कि आर्थिक वृद्धि को बढ़ाये जाने को लेकर भारत को अगले विकल्प के रूप में देखा जा रहा है.मामले में आपको बता दे कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कोलंबिया विश्वविद्यालय में सोमवार को अध्यापको और छात्रों को सम्बोधित करते हुए यह बात कही है.

इस सन्दर्भ में वित्त मंत्री अरुण जेटली के कहा है कि जहाँ एक तरफ दुनिया मंदी के दौर से जूंझ रही है वहीँ इस समय भारत की अर्थव्यवस्था को 6 से 8 प्रतिशत आर्थिक वृद्धि दर के साथ देखा जा रहा है लेकिन इससे कई भारतीय ऐसे है जो संतुष्ट नहीं है और इस मामले में अधिकतर भारतियों का यह मानना है कि मेरी वृद्धि दर फ़िलहाल 9 प्रतिशत या इससे भी अधिक बनी हुई है. साथ ही उन्होंने अपनी बात में यह भी कहा है कि नीति-निर्माताओं पर इस समय दबाव बना हुआ है और इसमें उन्हें कुछ भी गलत नजर भी नहीं आता है. क्योकि आपकी रफ़्तार जितनी तेज होगी सरकार को उतना अधिक फायदा होना है.

वित्त मंत्री ने कहा है कि हमारी मजबूत अर्थव्यवस्था हमारे लिए एक बेहतर संकेत है. चीन जहाँ इस समय अर्थव्यवस्था की मार से सहम सा गया है वहीँ दुनिया को किसी और मजबूत कंधे की जरुरत है और इस समय भारत ही उस नए कंधे के रूप में सामने आ रहा है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि भारत में निवेश के लिए सभी द्वार खुले हुए है और सभी का यहाँ निवेश के लिए स्वागत है. गौरतलब है कि भारत में "मेक इन इंडिया", "डिजिटल इंडिया" से बहुत लाभ हुआ है और लगातार होता जा रहा है.