Share:
होली पर DJ बजाया तो बिहार पुलिस ने उठाया, अब हिरासत में हुई अमृत यादव की मौत.. ग्रामीणों का बवाल
होली पर DJ बजाया तो बिहार पुलिस ने उठाया, अब हिरासत में हुई अमृत यादव की मौत.. ग्रामीणों का बवाल

पटना: बिहार पुलिस ने बेतिया में थाने पर हुई हमले की घटना के सिलसिले में पुलिस ने 14 लोगों को अरेस्ट किया है। इस घटना में एक हवलदार की जान चली गई थी, जबकि तीन अन्य पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे। थाने पर हमले की यह घटना शनिवार (19 मार्च 2022) को कथित तौर पर पुलिस हिरासत में एक युवक की मौत के बाद हुई थी। बताया जाता है कि बेतिया में होली पर तेज आवाज में DJ बजाने के आरोप में पुलिस ने अनिरुद्ध यादव उर्फ़ अमृत यादव को गिरफ्तार कर लिया था। बाद में हिरासत में उसकी मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि मधुमक्खियों के काटने से अमृत की मौत हुई, जबकि अमृत के परिजनों का दावा है कि हिरासत में पिटाई के कारण उसकी मौत हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चम्पारण रेंज के DIG प्रणव कुमार प्रवीण ने जानकारी दी है कि, 'अब तक 14 लोगों को बलथर मामले में अरेस्ट किया गया है। अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। आरोपितों की शिनाख्त के लिए पुलिस CCTV व अन्य फुटेज का भी सहारा ले रही है।' बताया जाता है कि भीड़ ने हवलदार रामजतन राय की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। रिपोर्ट के अनुसार, होली वाले दिन 18 मार्च (शुक्रवार) को अनिरुद्ध यादव उर्फ़ अमृत यादव DJ बजा रहा था। अनिरुद्ध बलथर थाना क्षेत्र के आर्य नगर का निवासी था। पुलिस ने तेज आवाज में DJ बजाने के जुर्म में उसे हिरासत में ले लिया। बाद में थाने में ही उसकी मौत हो गई। मृतक अमृत यादव के भाई कन्हैया यादव के अनुसार, हिरासत में पुलिसकर्मियों ने अमृत को बहुत पीटा था और इसी कारण उसकी मौत हो गई थी।

इस मामले में जिला SP ने अमृत यादव के मौत का कारण मधुमक्खियों द्वारा काटा जाना बताया था। SP उप्रेंद्र नाथ वर्मा के अनुसार, 'अमृत को DJ जब्त करते हुए थाने लाया गया था। उसे लॉकअप में रखा गया। बाद में वह नल से पानी पीने के लिए बाहर निकला था। इसी बीच उस पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। बाद में उनको अस्पताल ले जाया गया, मगर उनकी मौत हो गई। मधुमक्खियाँ अमृत के कान में भी घुस गई थीं।' अमृत यादव की मौत से ग्रामीण आक्रोशित हो गए। उन्होंने थाने पर हमला बोल दिया। पुलिस ने भीड़ को रोकने की काफी कोशिश की, मगर भीड़ वो थाने में घुस गई। थाने में आग लगा दी गई और पुलिस के वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई। यह सब हंगामा करीब 6 घंटे तक चलता रहा। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा। अतिरिक्त पुलिस बल आने के बाद ही भीड़ को नियंत्रित किया जा सका था। इस हमले का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

हमला करने वालों में बच्चे भी शामिल थे। इस हमले में करीब एक दर्जन पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे। अब वायरल वीडियो में एक पुलिसकर्मी बता रहा है कि, 'हमने भीड़ को रोकने के लिए हवाई फायरिंग की। किन्तु फिर भी भीड़ गेट के भीतर घुस गई। हम वर्दी में थे, इस दौरान हमने कपड़े बदल लिए और भाग गए। मगर एक स्टाफ वर्दी में ही रह गया। उसको भीड़ ने मार डाला।' मृतक हवलदार बगल के पुरषोत्तमपुर थाने में पदस्थ थे। घायल पुलिसकर्मियों का उपचार सरकारी मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। इसमें से एक पुलिसकर्मी को गोली भी लगी है। डॉक्टरों के अनुसार, सभी पुलिसकर्मी खतरे से बाहर हैं। थाने में लगी आग को बुझाने आई दमकल विभाग की भी गाड़ी को भीड़ ने आग के हवाले कर दिया था। वही मार्क्सवादी लेनिन पार्टी के सिकटा MLA बीरेंदर प्रसाद गुप्ता ने मृतक अमृत यादव के परिवार को 20 लाख रुपए और सरकारी नौकरी देने की माँग की है।

ऑस्ट्रेलिया से वापस लाई गईं 29 दुर्लभ भारतीय मूर्तियां, पीएम मोदी ने किया निरिक्षण

बिहार में फिर दिखा जहरीली शराब का कहर, अब तक 17 की मौत.. कई अस्पताल में भर्ती

हाई स्पीड कार ने ऑटो को मारी टक्कर, 4 लोग हुए जख्मी

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -