इस दुर्लभ पत्थर में आग लगाकर मिलते हैं वाईफाई सिग्नल

इस दुर्लभ पत्थर में आग लगाकर मिलते हैं वाईफाई सिग्नल

दुनिया के हर कोने में कुछ न कुछ अजूबे देखने मिल ही जाते हैं. ऐसा ही अनोखा अजूबा देखने मिलता है जर्मनी के आउटडोर स्कल्पचर्स का म्यूजियम न्यूएनकिर्चेन में है जहाँ एक ऐसा पत्थर है. जिसकी खूबी जानकर वैज्ञानिक भी हैरान है. जहाँ एक तरफ लोग अपने मोबाइल में सिग्नल पकड़ने के लिए घरों की छतों और टॉवरों पर चढ़ जाते हैं तो वहीँ जर्मनी में इस जगह एक ऐसा दुर्लभ पत्थर है  जिसके पास आग जलाने पर वह इंटरनेट और वाईफाई के सिग्नल छोड़ने लगता है. आपको जानकर जरूर हैरानी होगी पर यह बात बिल्कुल सच है.

जर्मनी के आउटडोर स्कल्पचर्स का म्यूजियम न्यूएनकिर्चेन में यह दुर्लभ पत्थर देखने मिला था जो की एक काफी सुर्ख़ियों रहता है. लोग दूर-दूर से इसे देखने आते हैं और इसका एक्सपेरिमेंट करके देखते हैं दरअसल यह एक कृतिम पत्थर है जिसके अंदर एक थर्मो इलेक्ट्रिक जेनरेटर लगा गया है और जब इसके पास आग लगाई जाती है जो की हीट को इलेक्ट्रिसिटी में बदल देता है जिससे पत्थर के अंदर मौजूद इलेक्ट्रिसिटी मिलते ही वाई-फाई राउटर ऑन हो जाता है और इंटरनेट सिग्नल शुरू हो जाते है

बता दें कि इस दुर्लभ पत्थर का वजन करीब 1.5 टन है और इस आर्टवर्क को कीप एलाइव नाम जाना जाता है.जिसे एरम बर्थोल नाम के शख्स ने बनाया है. इस अनोखे अविष्कार एरम बर्थोल काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं.

बीच पर पड़े इस विशालकाय जीव को लोग समझ बैठे शैतान

रूस ने तैयार किया सबसे महंगा पुल, कीमत जानकर रह जाएंगे दंग

दुनिया का पहला रोबोटिक ऑपरेशन हुआ सफल

क्रिकेट से जुडी ताजा खबर हासिल करने के लिए न्यूज़ ट्रैक को Facebook और Twitter पर फॉलो करे! क्रिकेट से जुडी ताजा खबरों के लिए डाउनलोड करें Hindi News App