Share:
RSS को आतंकी संगठन घोषित करवाने अमेरिकी कोर्ट गए तीन और भारतीय
RSS को आतंकी संगठन घोषित करवाने अमेरिकी कोर्ट गए तीन और भारतीय

न्यूयॉर्क : मोदी सरकार के आइडियोलॉजिकल थिंक टैंक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RRS) को आतंकी संगठन घोषित करवाने के लिए तीन भारतवंशियों ने अमेरिकी कोर्ट की शरण ली है। इन तीनों ने RSS पर उनका जबरन धर्म परिवर्तन करवाने का आरोप लगाया है। तीनों ने सिख अधिकार संगठन सिख्स फॉर जस्टिस (एसएफजे) की मदद ली है। SFJ पहले से ही RSS को आतंकी संगठन घोषित करवाने की कोशिश कर रहा है। तीनों ने अपनी शिकायत जज लॉरा टेलर स्वेन की अदालत में लगाई है। SFJ ने कहा है कि याचिका लगाने वाले तीनों शख्स RSS के कथित "घर वापसी" कार्यक्रम के पीड़ित हैं।

पीड़ितों के नाम हैं- माइकल मसी, हाशिम अली और कुलविंदर सिंह। माइकल ईसाई, हाशिम मुस्लिम और कुलविंदर सिख हैं। इनकी शिकायत है कि 2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से RSS उनके परिवारों को जबरन हिंदू बनाना चाह रहा है। शिकायत के साथ यूएस कमीशन ऑन इंटरनेशनल रिलिजियस फ्रीडम की रिपोर्ट का हवाला दिया गया है। यह वही रिपोर्ट है, जिसमें दावा किया गया था कि दिसंबर 2014 में हिंदू संगठनों ने यूपी में 4 हजार ईसाई और 1 हजार मुस्लिम परिवारों के जबरन धर्म परिवर्तन का एलान किया।

वहीं, एसएफजे के लीगल एडवाइजर गुरपतवंत सिंह पन्नू ने कहा कि मौजूदा कानूनों के तहत ओबामा प्रशासन RSS जैसे संगठनों को आतंकी करार देने के लिए बाध्य है। अप्रैल में अमेरिकी सरकार ने फेडरल कोर्ट से कहा था कि वह एसएफजे द्वारा स्टेट सेक्रेटरी जॉन केरी के खिलाफ किए गए मुकदमे को खारिज करे। एसएफजे केरी की मदद से आरएसएस को विदेशी आतंकी संगठन घोषित करवाना चाहता था। अमेरिका ने कहा था कि एसएफजे के पास केरी को इस तरह का एलान करने के लिए बाध्य करने का कोई अधिकार नहीं है।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -