भारत का पाक को करारा जवाब, अपने वादे कभी पूरे नहीं करता पाक

अमेरिका : संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान द्वारा कश्मीर का राग जपने और भारत पर नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम उल्लंघन करने के आरोपों के बाद भारत ने इसका कड़ा जवाब देते हुए कहा कि इस्लामाबाद आतंकवाद को पैदा और प्रायोजित करने की अपनी ही नीतियों से पीड़ित है. संयुक्त राष्ट्र महासभा के 70वें सत्र में बुधवार को आम चर्चा के दौरान जवाब देने के भारत के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई मिशन में प्रथम सचिव अभिषेक सिंह ने कहा कि पाकिस्तान ने सच्चाई को गलत ढंग से पेश किया है और हमारे क्षेत्र में मौजूद चुनौतियों की गलत तस्वीर पेश करने के लिए एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र के उच्चस्तरीय खंड का गलत इस्तेमाल किया है.

सिंह ने कहा कि आतंकवाद के मामले का केंद्र बिन्दु एक देश है, जो आतंकवाद का इस्तेमाल शासन के वैध हथियार के रूप में करता है. इससे अब पूरा विश्व चिंता में है, क्योंकि इसके परिणाम अब पूरे विश्व में फैलने लगे हैं. पाकिस्तानी PM द्वारा नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्ष विराम उल्लंघन का मुद्दा उठाने के जवाब में सिंह ने कaहा कि विश्व जानता है कि संघर्ष विराम उल्लंघन का प्रमुख कारण आतंकवादियों को सीमा पार कराने में मदद करना है. 

शरीफ द्वारा जम्मू-कश्मीर को अनसुलझा मुद्दा बताने पर सिंह ने कहा कि ऐसा इसलिए है क्योंकि पाकिस्तान ने अपने वादों को कभी पूरा नहीं किया, फिर चाहे वह 1972 का शिमला समझौता हो या फिर आतंकवाद को समाप्त करने के लिए वर्ष 2004 में हुई संयुक्त घोषणा और हाल ही में ऐसा ही मामला उफा में दोनों प्रधानमंत्रियों के बीच बनी सहमति में भी सामने आया.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -